Breaking News
Home / More /

होशंगाबाद – (इटारसी) आरपीएफ इटारसी के सराहनीय कार्य की सर्वत्र सराहना, आरपीएफ की सूझबूझ से घर से भागी हुई लड़कियों को उनके परिजनों को सुपुर्द किया, पिता ने डांटा तो घर से भागकर इटारसी आ पहुची दो लडकियो को उनके परिजनों के सुपुर्द किया, इसी तरह 1 दिन पहले भी आरपीएफ के जवान ने एक महिला जो कि ट्रेन और पटरी के बीच चलती ट्रेन से उतरने के चक्कर में गिर गई थी, जवानों की वजह से बची जान इटारसी स्टेशन पर ही पढ़े मोबाइल को उसके मालिक तक पहुंचाया यह कारण लगातार इटारसी रेलवे स्टेशन की आरक्षक को की वजह से इटारसी स्टेशन सुर्खियों में बना है, रेलवे के सुरक्षाबलों ने एक मानवता की मिसाल पेश की है,
इसी, श्रंखला में आरपीएफ ने घर से भागी दो लडकियो को इटारसी स्टेशन से बरामद कर परिजनो के हवाले किया। इटारसी आरपीएफ पोस्ट प्रभारी देवेन्द्र कुमार ने बताया कि दिनांक 14.10.2020 को मंडल सुरक्षा नियंत्रण कक्ष भोपाल ने सूचना दी कि दो लड़कियां अपने घर मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश से परिजनों को बिना बताए निकल गई हैं जिनका नाम सोनू शुक्ला तथा रीतू शुक्ला (परिवर्तित नाम) हैं। उक्त सूचना पर डयूटी पर तैनात SI धर्मपाल सिंह, आरक्षक राजेन्द्र मीना एंव आरक्षक आरिफ खान ने गाड़ियों एंव प्लेटफार्म पर तलाशी शुरू कर दी। इस दौरान 02 लडकिया इटारसी स्टेशन पर बैठी हुई मिली जिनसे पूछताछ करने पर उन्होंने अपना नाम सोनू शुक्ला एंव रीतू शुक्ला (परिवर्तित नाम) बताया।जिन्हें आरपीएफ पोस्ट पर लाया गया पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि पढ़ाई लिखाई के बारे में पिताजी के द्वारा डांटने पर वह बिना बताए घर से निकलकर ट्रेन में बैठ कर इटारसी आ गई है। बाद उनके द्वारा उनके परिजनों के मोबाइल नंबर लिए गए व परिजनों को सूचित किया गया जिस पर उन्होंने बताया कि वह उनकी बच्चियां है और बिना बताए घर से निकल गई हैं हम लोग पहली ट्रेन पकड़ कर आ रहे हैं आप उन्हें सुरक्षित रखें। उक्त दोनों बालिकाओं को महिला बल सदस्यों की निगरानी में सुरक्षित रखा गया। आज दिनांक 15.10.2020 को उनके परिजन आरपीएफ पोस्ट इटारसी आऐ लड़कियों को देखा आपस में आमना सामना कराया गया जिसमें लड़कियों ने अपने पिता का नाम कृपाशंकर शुक्ला व पिता लक्ष्मण शुक्ला उम्र 60 वर्ष निवासी अकौड़ी मिर्जापुर जिला उत्तर प्रदेश मोबाइल नंबर 7985489629 बताया कि रीतू शुक्ला मेरी पुत्री है तथा सोनु शुक्ला मेरे छोटे भाई की लड़की है।परिजनो ने बताया कि उन्होंने इन्हें पढ़ाई लिखाई के बारे में डांटा था जिससे यह दोनों लड़कियां नाराज होकर घर से बिना बताए चली आई हैं। हमने इनकी FIR पुलिस थाना में दर्ज नहीं की। बात बच्चियों को सही हालत में उनके परिजनों को आवश्यक कार्यवाही उपरांत सुपुर्द किया गया। बच्चियों के पिता ने बच्चियों को सही सलामत मिलने पर आरपीएफ इटारसी को धन्यवाद दिया। प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*