Breaking News
Home / More / निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों ने खोला मोर्चा,

निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों ने खोला मोर्चा,

निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों ने खोला मोर्चा,
होशंगाबाद- (इटारसी) शहर के अनेक निजी स्कूल फीस से लेकर ड्रेस, किताबों, ट्रांसपोर्ट के नाम से बेतहाशा वृद्धि करते रहें हैं और मजबूर अभिभावक इसे बच्चों के सुनहरे भविष्य को लेकर सहर्ष स्वीकार भी करते रहे। कोरोना काल में उन स्कूल संचालकों का गैर मानवीय चेहरा फिर एक बार लोगों के सामने आ रहा हैं। फीस ना भर पाने के कारण ऑनलाइन क्लास से बच्चों को निकालना, एक्जाम से बच्चों को वंचित करने की धमकी अभिभावकों को देना इत्यादि ऐसे कृत हैं जो स्कूल संचालकों के गैर जिम्मेदाराना व्यवहार की गाथा कहते हैं। इटारसी के अभिभावकों ने तय किया हैं उनकी पोल अभिभावक शहर की जनता के बीच खोलें। अभिभावक घर-घर जाकर जनता से समर्थन लेंगे। जबकि निजी स्कूलों की मनमानी की असलियत सभी को बताने के लिए माइक से कॉलोनी और गली-गली माइक पर एनाउंस कराएंगे। अभिभावक यह भी तैयारी कर रहे हैं कि सोमवार से अभिभावक ऐसे स्कूल संचालकों के साथ मुलाकात करेंगे। जो कोरोना काल में अपनी सह्यदयता का परिचय देते हुऐ बच्चों के अभिभावकों को रियायत दे रहें हैं। जिन्होंने अभी तक अपने स्कूलों को व्यवसाय होने से बचाऐ रखा हैं। इसके लिए अभिभावको की टोलियां बनाई जा रही है। जो शनिवार और रविवार को शहर में आम जनता को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक करेगी। आंदोलन की रूपरेखा तय करने के लिए आज रविवार को मुख्य बाजार के गांधी स्टेडियम में शहर के तमाम स्कूलों के अभिभावकों की बैठक हुई। स्कूलों की मनमानी के खिलाफ मोर्चा खोल चुके अभिभावक मंच ने प्रशासन पर गंभीर कदम न उठाने के आरोप लगाए हैं। बैठक के दौरान अभिभावकों ने का कहा कि स्कूलों की मनमानी को लेकर अभिभावकों की नाराजगी बढ़ रही है, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। इसलिए शनिवार और रविवार को कॉलोनी, गली और घर-घर अभिभावक संघ की टोलियां जाएंगी। दोनों ही दिन अभिभावकों की टोलियां पहुंचकर जनता और अभिभावकों से भविष्य में होने वाली बैठक में पहुंचने का आह्वान करेगी उन्हें अभिभावकों के सोशल मिडिया समूह में जोड़कर उनकी शिकायतों को एकत्रित कर संबद्ध सरकारी शिक्षा समिति और जिम्मेदार अधिकारीयों को सौपेगी । इसके साथ ही यह भी तैयारी है कि शहर में अभिभावक रिक्शा रेहड़ियों में बैठकर खुद माइक पर एनाउंस करते हुए घूमेंगे। बैठक के दौरान रमेश चंद चौधरी, एन एस चौहान, संदेश पुरोहित, पंकज राठौर, नीरज जैन, अधिवक्ता संतोष शर्मा, पत्रकार शैलेंद्र पाली, सामाजिक कार्यकर्ता अजय सिंह राजपूत, दशरथ चौधरी, विशाल जैन, अनुराग जैन, विशाल जैन, विरेंद्र दीवान, शंकर तिवारी, दीपक राजपूत, संदीप मालवीय, मनीष कुमार, सत्यप्रकाश मालवीय, देवीचरण खडोतिया, कन्हैया बामने सहित सैकड़ो अभिभावक मौजूद रहे। दस टोलियां बनेगी घर-घर, एक टोली करेगी एनाउंस, अभिभावकों ने आंदोलन की तैयारियों की जानकारी देते हुए कहा कि आठ से दस टोलियों का गठन किया जाऐगा। टोलियों में एक महिला सदस्य होगी, जबकि टोली में कुल पांच से छह सदस्य शामिल रहेंगे। यहीं टोलियां शनिवार और रविवार को सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक गली, पार्क, होटल, धार्मिक स्थलों से लेकर प्रत्येक पब्लिक प्लेस पर जाकर समर्थन मांगेंगी। जरूरत पड़ी तो पंपलेट और पोस्टर भी बनवाएंगे, जिससे स्कूलों की मनमानी शहर के प्रत्येक व्यक्ति को पता चल सके। प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*