Breaking News
Home / More / भारतीय किसान यूनियन द्वारा किसान पंचायत का आयोजन किया गया।

भारतीय किसान यूनियन द्वारा किसान पंचायत का आयोजन किया गया।

भारतीय किसान यूनियन द्वारा किसान पंचायत का आयोजन किया गया।

चरखीदादरी (उमेश सतसाहेब)
भारतीय किसान यूनियन जिला चरखी दादरी इकाई द्वारा जिला महासचिव धर्मचंद तिवाला एवं पूर्व सरपंच चंद्रसिंह घसौला की संयुक्त अध्यक्षता में एक किसान पंचायत का आयोजन किया गया जिसमें किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर चर्चा की गई जिनमें भाकियू जिला संरक्षक रणबीर फौजी घिकाडा ने बतलाया की मुख्य रुप से बाजरे की खरीद के लिए मार्केट कमेटी द्वारा कम संख्या में गेट पास जारी करने पर भारी रोष जताया गया जिस प्रकार से सरकार द्वारा खरीद की प्रक्रिया चलाई जा रही है अगर खरीद प्रक्रिया इसी हिसाब से चलती रही तो करीब 70% किसान अपनी फसल बेचने से वंचित रह जाएंगे क्योंकि सरकार किसानों की फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने की बजाय फसल खरीदने से बचने के तरीके अख्तियार करके अपना पीछा छुड़वाना चाहती है और सरकार किसानों को ऑनलाइन की जटिल प्रक्रिया में उलझा कर फसल खरीद का समय बर्बाद कर रही है इसी बात को लेकर भाकियू के साथ मिलकर आड़तियों एवं क्षेत्र के किसानों ने सामूहिक तौर पर चरखी दादरी अनाज मंडी के दोनों गेटों को ताले जड़ दिए भाकियू से जगबीर घसौला ने कहा कि अब चरखी दादरी की मंडी में 100 गेटपास व ग्रामीण अस्थाई मंडियों में 35 पास जारी किए जा रहे थे लेकिन आज की किसान पंचायत में मार्केट कमेटी सचिव सुरेश खोखर एवं उपमंडल अधिकारी विरेंद्र सिंह ने उच्च प्रशासनिक अधिकारियों से चर्चा करके अनुमति लेकर चरखी दादरी की अनाज मंडी में 300 गेट पास व ग्रामीण अस्थाई मंडियों में 200 गेटपास प्रतिदिन जारी करने की बात स्वीकार की गई आज ही के दिन बाढ़डा की अनाज मंडी कादमा की अनाज मंडी एवं झोझूकला की अनाज मंडी के अंदर किसानों आडतियो ने सामूहिक तौर पर दोपहर तक खरीद प्रक्रिया को बंद रखा और झोझुकला की अनाज मंडी में एकत्रित हुए किसान संगठन के पदाधिकारियों एवं खाप कन्नी प्रधान सुरजभान सांगवान की अध्यक्षता में चरखी दादरी की अनाज मंडी के गेट पर धरने में शामिल हुए कन्नी प्रधान सूरजभान सांगवान ने कहा कि चरखी दादरी जिले के अंतर्गत झोझूकला उपतहसील एवं दादरी तहसील के किसानों की कपास की खराब हुई फसलों कि दोबारा से गिरदावरी करवाई जाए और उनको तुरंत मुआवजा दिया जाए अन्यथा किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर आगामी 23 अक्टूबर को 10:00 बजे जिले भर के सभी किसान संगठन शामिल होकर एक बड़ी किसान महापंचायत का आयोजन करके जिला सत्र एवं प्रदेश सत्र के बड़े फैसले लिए जाएंगे भाकियू से जगबीर घसौला ने कहा कि आज सभी किसान संगठनों एवं खाप प्रतिनिधियों एवं व्यापार मंडल की तरफ से चरखी दादरी की अनाज मंडी में मार्केट कमेटी सचिव को एक ज्ञापन सौंपा गया जिसके अंदर निम्न 5 मांगे रखी गई जिनमें
1. चरखी दादरी के अनाज मंडी में 500 गेटपास एवं अस्थाई मंडियों में 300 गेट पास प्रतिदिन जारी किए जाएं
2. कपास की खरीद के लिए 500 गेट पास प्रतिदिन दिए जारी किए जाएं
3. बिक्री की गई फसलों का 24 घंटे के अंदर भुगतान किया जाए
4. खराब हुई कपास की फसल की दोबारा से गिरदावरी करवाकर किसानों को तुरंत मुआवजा दिया जावे
5. चरखी दादरी के सभी धर्मकांटों की जांच करवाई जाए
भाकियू जिला प्रभारी यादवेंद्र डूडी ने कहा कि अगर उपरोक्त मांगों पर 24 घंटे के अंदर अमल नहीं किया गया तो आगामी 23 अक्टूबर को 10:00 बजे झोझूकला की किसान महापंचायत में कड़े और बड़े फैसले लिए जाएंगे लेखक राजकुमार झोझूकलां ने कहा कि जिला एवं प्रदेश के अंदर किसानों की बहुत बुरी दुर्दशा है जिसके लिए किसानों को संगठित होकर लड़ाई लड़ने की एक बहुत बड़ी आवश्यकता है वीरेंद्र ग्रेवाल बामला ने कहा कि मौजूदा सरकार द्वारा तीन अध्यादेश लागू करके किसानों के गले काटने का काम किया गया है जो किसानों को उसी की जमीन पर मजदूर बनाकर छोड़ने वाले हैं मौजूदा सरकार कहीं पर भी किसान हितेषी कोई कार्य नहीं कर रही जिसके कारण आज किसानों की बहुत बड़ी दुर्गति हो चुकी है किसान पंचायत के अंदर आज सैकड़ों से अधिक संख्या में किसान मौजूद रहे किसानों ने जमकर सरकार एवं क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के विरोध में नारे लगाए और अपनी भड़ास निकाली जिनमें मुख्य रुप से पूर्व सरपंच संजय चिड़िया, सांगवान खाप सचिव सुरेंद्र कुब्जा, कन्नी प्रधान रायसिंह तिवाला, पूर्व सरपंच अतर सिंह बलाली, पूर्व प्रधान विजेंद्र सिंह झोजुखुर्द, संजय सरपंच बादल, भान सिंह, भाकियू पूर्व जिला प्रधान भिवानी रविंद्र सांगवान, सतीश चिड़िया, राकेश डोहकी, लकी शर्मा, सोनू तिवाला, ईश्वर सिंह घसौला, युवा मीडिया प्रभारी रविंद्र कुमार घिकाडा, व्यापार मंडल से भूप सिंह खानपुर, बजे,मोप्पल घसौला, वीरभान चरखी, कर्मवीर नांधा, छोटू घसौला, दिनेश पातुवास, अनाजमंडी प्रधान रामकुमार रिटोलिया, रामफल सरूपगढ़ इत्यादि काफी संख्या में किसान मौजूद रहे।

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*