Breaking News
Home / More / आप पार्टी ने साप्ताहिक, दैनिक गुजरी की राजस्व वसूली न किए जाने सीएमओ को सौंपा ज्ञापन।

आप पार्टी ने साप्ताहिक, दैनिक गुजरी की राजस्व वसूली न किए जाने सीएमओ को सौंपा ज्ञापन।

आप पार्टी ने साप्ताहिक, दैनिक गुजरी की राजस्व वसूली न किए जाने सीएमओ को सौंपा ज्ञापन।

बैतूल/सारनी। कैलाश पाटिल

वैश्विक महामारी में अभी निम्न और मध्यम वर्गीय परिवारों की हालत बेहद गंभीर हैं सभी अपने रोजगार से वंचित हो गए हैं। कुछ परिवार छोटे फुटकर विक्रेता सड़को पर छोटी छोटी सी खाद्य सामग्री बेचकर अपना जीवन यापन कर रहे हैं और अपने परिजनों के लिए दो वक़्त की रोटी का इंतजाम कर पालन पोषण कर रहे हैं। एक एक रुपया कमा पाना बड़ा मुश्किल हो गया हैं। वर्तमान समय में कोविड़-19 में अपनी सुरक्षा भी कर पाना मुश्किल हो रहा हैं। आम आदमी पार्टी के सिराज खान ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि उन्हें कुछ व्यापारियों के द्वारा जानकारी प्राप्त हुई हैं कि नगर पालिका के द्वारा दैनिक गुजरी में पुनः राजस्व की वसूली की नगर पालिका के द्वारा शुरू कर दी गई हैं। अभी छोटे व्यापारियों से 10/20 रुपए की वसूली भी उनके लिए उनके दैनिक जीवन में जलते चूल्हे में पानी डालने जैसा कदम हैं। अभी वैसे ही आम जनता पर लॉकडाउन, बेरोज़गारी, कर्जदारी की भारी मार पड़ी हैं और फिर ये हर महीने अब प्रतिदिन के 10/20 रुपए के हिसाब से 300 से 600 रुपए अलग से हर महीने के नगर सरकार को राजस्व देना अभी उन्हें मानसिक रूप से परेशान करने जैसा कदम हैं। आम आदमी पार्टी मांग करती हैं कि जब तक कि इस वैश्विक महामारी में अर्थव्यवस्था पुनः पहले की तरह सभी का जीवन नहीं चलने लग जाता हैं तब तक किसी भी प्रकार से साप्ताहिक या दैनिक गुजरी की राजस्व वसूली ना की जाए। क्योंकि वैसे ही ग्रह मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय के आदेशानुसार अभी सोशल डिस्टेंस, फिजिकल डिस्टेंस, मास्क, सेनेटाइजर, दो गज की दूरी की व्यवस्थाओं को बनाने में ही व्यापारी की कमाई पर पहले से ही खर्च अा रहा हैं और ग्राहकी अभी पहले की तरह नहीं बन पा रही हैं। आम आदमी पार्टी नपा अधिकारी से मांग करती है कि साप्ताहिक, दैनिक गुजरी में अपनी दुकान लगाने वाले व्यापारी बंधुओ के हित को ध्यान में रखते हुए वसूली न की जाए। ज्ञापन के समय जितेंद्र देशमुख, पप्पू साहू, प्रीतम भूमरकर, शेख रमजान मंसूरी, मोहम्मद इकबाल खान, शेख तौसीफ उपस्थित थे।

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*