भारत को आजादी मिलने के बाद सरदार बल्लभ भाई पटेल ने पूरे राष्ट्र को एकता के सूत्र में पिरोने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है/

भारत को आजादी मिलने के बाद सरदार बल्लभ भाई पटेल ने पूरे राष्ट्र को एकता के सूत्र में पिरोने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है/
कृषि मंत्री पटेल

हरदा शनिवार को छीपाबड़ मैं सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्मतिथि 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया गया, इस अवसर पर कृषि मंत्री कमल पटेल ने  राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर विजयंत गौर के निवास पर राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई गई इस अवसर पर श्री कृषि मंत्री पटेल ने कहा कि
145वीं जयंती मनाई जा रही है। भारत को आजादी मिलने के बाद सरदार वल्लभ भाई पटेल ने पूरे राष्ट्र को एकता के सूत्र में पिरोने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यही कारण भी है कि वल्लभभाई पटेल की जयंती को देश में राष्ट्रीय एकता दिवस तौर पर मनाया जाता है। पेशे से वकील सरदार पटेल ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्हें खासतौर पर खेड़ा सत्याग्रह के लिए जाना जाता है। सरदार पटेल आजादी के बाद देश के पहले उप प्रधानमंत्री और गृह मंत्री भी थे।
जिसमें मंडल अध्यक्ष गोलू राजपूत विजयंत गौर शंकर सिंह राजपूत पूर्व नप अध्यक्ष गंगा विशन मुनीम शांतिलाल मालाकार किशोर राठौर अर्जुन सेन उमेश गीते बीजेपी कार्यकर्ता गौर समाज के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*