Breaking News
Home / More / निर्वाचन में पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों  की भूमिका महत्वपूर्णःरतनू

निर्वाचन में पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों  की भूमिका महत्वपूर्णःरतनू

*निर्वाचन में पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों  की भूमिका महत्वपूर्णःरतनू*

*रतनू ने प्रशिक्षण का निरीक्षण कर मतदान प्रक्रिया के विविध पहलूआें की जानकारी दी।*

परेऊ बाड़मेर से वागाराम बोस की रिपोर्ट

बाड़मेर, 08 नवंबर। निर्वाचन प्रक्रिया को संपादित करवाने में पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों  की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है। चुनाव संबंधित प्रशिक्षण को गंभीरता से लेते हुए स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण चुनाव करवाएं। मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने रविवार को एमबीआर महाविद्यालय बालोतरा में पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों  के प्रशिक्षण के दौरान यह बात कही।
मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने कहा कि पंचायतीराज चुनाव करवाने के लिए नियुक्त किए गए पीठासीन एवं मतदान अधिकारी प्रशिक्षण के दौरान गहनता से प्रशिक्षण प्राप्त करें। ताकि मतदान करवाते समय किसी तरह की दिक्कत नहीं आए। उन्हांने कहा कि चुनाव प्रक्रिया संबंधित अपनी शंका समाधान के साथ ईवीएम से मतदान प्रक्रिया के बारे में प्रायोगिक एवं सैद्धांतिक प्रशिक्षण प्राप्त कर लेवे। इस दौरान मुख्य कार्यकारी अधिकारी रतनू ने जिला परिषद एवं पंचायत समिति सदस्य पद की चुनाव प्रक्रिया से जुड़े विविध पहलूआें के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्हांने कहा कि मतदान प्रक्रिया को संपादित करवाने के लिए चुनाव आयोग के निर्देशां की पालना सुनिश्चित की जाए। रतनू ने कहा कि मतदान प्रक्रिया के दौरान कोरोना की रोकथाम के लिए समुचित इंतजाम सुनिश्चित की जाए। उन्हांने मास्क एवं सैनेटाइजर के इस्तेमाल के साथ सोशल डिस्टेंसिंग की पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इससे पहले उन्हांने प्रशिक्षण संबंधित व्यवस्थाआें का जायजा लिया। इधर, बाड़मेर जिला मुख्यालय पर इंजीनियरिंग महाविद्यालय तथा बालोतरा में एमबीआर महाविद्यालय में 11 नवंबर तक चुनाव संबंधित प्रशिक्षण जारी रहेगा।

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*