Breaking News
Home / More / अन्तर्विभागीय समन्वय स्थापित कर विभागीय मुद्दों का प्राथमिकता से निराकरण किया जाए,

अन्तर्विभागीय समन्वय स्थापित कर विभागीय मुद्दों का प्राथमिकता से निराकरण किया जाए,

होशंगाबाद-  अन्तर्विभागीय समन्वय स्थापित कर विभागीय मुद्दों का प्राथमिकता से निराकरण किया जाए, समन्वय के अभाव में कोई भी प्रकरण लंबित ना रहे। यह निर्देश कमिश्नर नर्मदापुरम रजनीश श्रीवास्तव ने सभी संभागीय एवं जिला अधिकारियों को दिए। कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने मंगलवार को कमिश्नर कार्यालय के सभाकक्ष में विभिन्न विभागों के पेंशन, अनुकंपा नियुक्ति, विभागीय जांच एवं अन्य सेवा संबंधी प्रकरणों की विस्तृत समीक्षा की। कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने निर्देशित किया कि सभी अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि आमजन से जुड़े , योजनाओं एवं अन्य कार्यालयीन महत्व के मुद्दों का जिलों में आयोजित होने वाली समय सीमा की बैठकों में उठाकर, जिला कलेक्टर के संज्ञान में लाकर उनका प्राथमिकता से निराकरण सुनिश्चित कराएं। पेंशन, अनुकंपा नियुक्ति , विभागीय जांच एवं अन्य सेवा संबंधी लंबित प्रकरणों का शीघ्र निराकरण किया जाए। पेंशन प्रकरणों के सम्बन्ध में जिला कोषालय द्वारा पूर्व में जारी पेंशन प्रकरण के निराकरण हेतु आवश्यक बिंदुओं के आधार पर ही प्रकरण तैयार कर जिला कोषालय कार्यालय को भेजें। कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने पेंशन प्रकरणों के संबंध में पूर्व में दिए गए स्पष्ट निर्देशों के बावजूद भी प्रकरण के निराकरण में आपत्तियां आने पर संबंधित अधिकारियों  को नोटिस देने के निर्देश दिए। पेंशन ,अनुकंपा नियुक्ति एवं अन्य  सेवा संबंधी प्रकरणों की अद्यतन जानकारी ना भेजने पर कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग बैतूल एवं बैठक में अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने पर महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र होशंगाबाद को कारण बताओं नोटिस देने के निर्देश दिए। कमिश्नर ने उपायुक्त जनजाति कार्य विभाग को निर्देशित किया कि वे अधीनस्थ कार्यालयों का लगातार निरीक्षण करें एवं लंबित प्रकरणों का तत्परता से निराकरण सुनिश्चित कराएं। छात्रवृत्ति से संबंधित प्रकरणों में जिन विद्यार्थियों का खाता बंद है, उन विद्यार्थियों के पते व उनकी वर्तमान अध्यनरत संस्था को ईमेल आदि उचित माध्यम से सूचित कर खाता एक्टिवेट कराएं। जाति प्रमाणपत्र के लंबित एवं नए दर्ज प्रकरणों की  प्रति सप्ताह समीक्षा कर उनका निराकरण कराएं। अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम अंतर्गत राहत के प्रकरणों में प्रावधान अनुसार समस्त औपचारिकताएं पूर्ण कर निराकरण की कार्रवाई शीघ्र की जाए। कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने पेंशन प्रकरणों में वसूली , सी आर ,  न्यायालय के स्टे आदि के वजह से  लंबित होने की दशा में नियमानुसार कार्रवाई कर उनका निराकरण कराने के निर्देश सभी संभागीय अधिकारियों को दिए। वसूली के प्रकरण में नियमानुसार वसूली की जाए। कमिश्नर ने पशुपालन ,मत्स्य पालन , उद्यानिकी एवं कृषि विभाग को कृषि उत्पादन आयुक्त की बैठक में दिए गए निर्देशों का गंभीरता से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने आज आदिवासी कार्य विभाग, लोक शिक्षण ,किसान कल्याण एवं कृषि विकास, पशुपालन मत्स्यपालन ,आयुष ,स्वास्थ्य ,सामाजिक न्याय, महिला एवं बाल विकास ,लोकनिर्माण विभाग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, जल संसाधन आदि विभागों के पेंशन, अनुकंपा नियुक्ति , विभागीय जांच एवं सेवा संबंधी प्रकरणों की समीक्षा की एवं उक्त प्रकरणों को समय सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए। बैठक में अपर आयुक्त आशकृत तिवारी सहित विभिन्न विभागों के संभागीय एवं जिला अधिकारी उपस्थित रहे।
प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*