Breaking News
Home / More / पण्डो जनजाति समाज ने महाकवि कालिदास जी का 15 नवंबर 2020 को जन्मदिवस समारोह कार्यक्रम ग्राम मृगाडाड़ उदयपुर में मनाने पर प्रतिबंध लगाने उठाया मोर्चा

पण्डो जनजाति समाज ने महाकवि कालिदास जी का 15 नवंबर 2020 को जन्मदिवस समारोह कार्यक्रम ग्राम मृगाडाड़ उदयपुर में मनाने पर प्रतिबंध लगाने उठाया मोर्चा

पण्डो जनजाति समाज ने महाकवि कालिदास जी का 15 नवंबर 2020 को जन्मदिवस समारोह कार्यक्रम ग्राम मृगाडाड़ उदयपुर में मनाने पर प्रतिबंध लगाने उठाया मोर्चा

प्रांतीय अध्यक्ष विनोद कुमार पण्डो एवं प्रांतीय सचिव देवचंद राम पण्डो , प्रांतीय उपाध्यक्ष शिवराम पण्डो समाज के पदाधिकारियों के नेतृत्व में आज डॉ.रामविजय शर्मा तहसीलदार चांपा के द्वारा पण्डो निवासरत गांव में महाकवि कालिदास जी को आदिवासी पण्डो बताकर जन्म दिवस समारोह मनाने के खिलाफ डॉ.रामविजय शर्मा के प्रति पण्डो समाज के द्वारा सरगुजा संभाग के आयुक्त , सरगुजा संभाग के पुलिस महानिरीक्षक , जिला कलेक्टर , पुलिस अधीक्षक सरगुजा , अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व ) उदय पुर अम्बिकापुर सरगुजा, तहसीलदार कार्यालय उदय पुर, थाना मृगाडाड़ उदय पुर सरगुजा , वनमण्डलाधिकारी अम्बिकापुर सरगुजा, वन परिक्षेत्र अधिकारी उदय पुर सहित ज्ञापन सौंपा गया है कि डॉ. रामविजय शर्मा तहसीलदार चांपा द्वारा ग्राम मृगाडाड़ विकास खंड उदय पुर , अम्बिकापुर जिला- सरगुजा छ.ग. में पण्डो जनजाति समाज के लोगों को गुमराह कर महाकवि कालिदास को पण्डो जाति बता रहे है। और ग्राम मृगाडाड़ में महाकवि कालिदास को पण्डो जाति बता कर और भोले-भाले पण्डो आदिवासी समाज को गुमराह कर महाकवि कालिदास जी को पण्डो जनजाति समाज के पूर्वज बताकर दो सालों से 15 नवंबर को महाकवि कालिदास का जन्म दिवस मनाया गया था जिसमें पण्डो जनजाति समाज को शराब , मांस और नशीली पदार्थों को बांटकर नशा करने के लिए प्रोत्साहित करने का काम किया गया था जबकि अब पण्डो समाज नशा मुक्ति एवं अनेक कुरितियों से बचने के लिए जागरूक होने का प्रयास किया जा रहा है। डॉ.रामविजय शर्मा तहसीलदार चांपा के द्वारा ग्राम मृगाडाड़ विकास खंड उदयपुर सरगुजा में विशेष पिछड़ी जनजाति पण्डो निवासरत गांव में महाकवि कालिदास का मंदिर निर्माण करने के लिए प्रस्ताव बनाया गया था। जो पण्डो जनजाति समाज के सभ्यता संस्कृति, रीति-रिवाज एवं परंपरा में विकृति प्रभाव होने की संभावना है। पण्डो जनजाति समाज कल्याण समिति छत्तीसगढ़ प्रदेश के द्वारा निर्णय लिया गया है कि डॉ. रामविजय शर्मा तहसीलदार चांपा एक गैर समाज ब्राह्मण जाति का है जो पण्डो जनजाति समाज को गुमराह कर कुछ पण्डो भोले-भाले सदस्यों को पिलाखिला कर प्रलोभन देकर अपने वश में करके पण्डो समाज में फूट डालने का काम कर रहा है और पण्डो समाज के सभ्यता, संस्कृति, रिति-रिवाज, परंपरा के विरुद्ध कार्य कर रहा है जो घोर अन्याय , अत्याचार के श्रेणी में आता है। इस अपराधिक गतिविधियों के लिए डॉ.रामविजय शर्मा के विरुद्ध पण्डो समाज कल्याण समिति छत्तीसगढ़ प्रदेश के द्वारा महाकवि कालिदास का मंदिर निर्माण में रोक लगाने के लिए लिखित शिकायत एफआईआर दर्ज कराने हेतु महामहिम राज्यपाल महोदया, माननीय अनूसूचित जनजाति आयोग, माननीय पुलिस अधीक्षक महोदय सरगुजा, सूरजपुर , माननीय कलेक्टर महोदय सरगुजा, माननीय आयुक्त महोदय सरगुजा संभाग ,थाना प्रभारी मृगाडाड़ विकास खंड उदयपुर, आजाक थाना प्रभारी अम्बिकापुर सहित कानूनी कार्रवाई के लिए कदम उठाया गया था और वर्तमान में डाॅ. रामविजय शर्मा तहसीलदार चांपा के प्रति कार्यालय माननीय अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व ) सूरजपुर , जिला- सूरजपुर छत्तीसगढ़ कोर्ट में मामला चल रहा है । महाकवि कालिदास जी पण्डो जाति नहीं हैं इनका जन्मदिन पण्डो निवासरत गांव मृगाडाड़ विकास खंड उदयपुर में सोची समझी चाल के तहत मनाने का डाॅ.रामविजय शर्मा के द्वारा योजना है। महाकवि कालिदास पण्डो जाति के नहीं हैं तो उनका जन्मदिन पण्डो निवासरत गांव मृगाडाड़ में कुछ सालों से पण्डो समाज के पूर्वज बताकर जन्म दिवस समारोह मनाया जाना उचित नहीं है। इस लिए पण्डो जनजाति समाज कल्याण समिति छत्तीसगढ़ प्रदेश महाकवि कालिदास का जन्मदिन मनाये जाने पर प्रतिबंध लगाने हेतु बाध्य है पण्डो समाज अपने सभ्यता, संस्कृति , रीति-रिवाज और परंपराओं पर कोई आंच नहीं आने देगा ।

कार्रवाई नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी

अगर मृगाडाड़ में महाकवि कालिदास का मंदिर निर्माण करने या जन्मदिन समारोह इत्यादि मनाने का कार्यक्रम किया जाता है तब के स्थिति में पण्डो जनजाति समाज कल्याण समिति प्रदेश भर में उग्र आंदोलन एवं धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होगा जिसका समस्त जिम्मेदारी शासन-प्रशान का होगा। ग्राम मृगाडाड़ विकास खंड – उदयपुर अम्बिकापुर जिला- सरगुजा (छ.ग.) में ” महाकवि कालिदास ” का जन्मदिन समारोह 15 नवंबर 2020 को मनाने एवं मंदिर निर्माण करने हेतु कोई आवेदन, निवेदन,प्रस्ताव हेतु अनुमति के लिए आवेदन करें तो महाकवि कालिदास के जन्म दिवस समारोह कार्यक्रम करने के लिए अनुमति एवं महाकवि कालिदास आदिवासी पण्डो का मंदिर निर्माण करने के लिए वनभूमि न दिया जाए। पण्डो विशेष पिछड़ी जनजाति समाज हित में यह ज्ञापन जिले के वरिष्ठ अधिकारियों के समक्ष दिया है। विनोद कुमार पण्डो प्रांतीय अध्यक्ष, प्रांतीय सचिव देवचंद राम पण्डो, उपाध्यक्ष , सह सचिव उदय पण्डो , संतोष कुमार भानी पण्डो कोषाध्यक्ष पण्डो समाज , श्यामलाल पण्डो समाज सक्रिय कार्यकर्ता , शिवभरोष पण्डो ,सुफल राम पण्डो , संजीव कुमार पण्डो, रवि पण्डो मृगाडाड़ उदय पुर आदि शामिल थे ।

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*