Breaking News
Home / More / पटाखे की बिक को परमिशन ना मिलने पर हिताश दिखे पटाखे विक्रेता अस्थाई लाइसेंस लेने पहुंचे जनपद और तहसील

पटाखे की बिक को परमिशन ना मिलने पर हिताश दिखे पटाखे विक्रेता अस्थाई लाइसेंस लेने पहुंचे जनपद और तहसील

फिरोजाबाद

पटाखे की बिक को परमिशन ना मिलने पर हिताश दिखे पटाखे विक्रेता अस्थाई लाइसेंस लेने पहुंचे जनपद और तहसील

थाना जसराना क्षेत्र के
कस्बा पाढ़म एवं जसराना में पटाखों की बिक्री करने के लिए अस्थायी रुप से दुकान लगा ने वाले युवक लाईसेंस के लिए तहसील पहुंचे। सरकार एवं उच्च अधिकारियों द्वारा कोई गाइडलाइन न मिलने के कारण युवा निराश होकर लौट गए। युवाओं ने कहा त्यौहार में केवल एक रह गए हैं।
दीपावली के मौके पर कस्बा जसराना में जहां 15 तो पाढ़म में 18 से बीस युवक पटाखों की बिक्री के लिए अस्थायी दुकान लगाते हैं। दुकान लगाने के लिए उपजिलाधिकारी द्वारा अस्थाई लाईसेंस जारी किया जाता है। तहसील में आवेदन करने के बाद आवेदक को शुल्क जमा करने के साथ ही पुलिस एवं फायर विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र भी लेना होता है। कई दिन से तहसील के चक्कर लगा रहे युवक बुधवार को भी तहसील पहुंचे और एसडीएम से लाईसेंस देने की गुहार लगाई। एसडीएम ने कोई आदेश न होेने असमर्थता व्यक्त की। उन्होंने कहा पटाखों की बिक्री न करें। जनपद व तहसील पहुंचे जितेंद्र, राजदेव, ज्ञान मुहम्मद, अब्दुल रशीद, आरिफ, आसिफ, तफसील, अबरार, इमदाद, नौशाद, फैजान, नितिन, धर्मेंद्र, शैलेंद्र, सलीम, मिंटू, सुरेंद्र कुमार, भसीन, जितेंद्र, जगदीश, दलवीर सिंह, राजकिरन आदि ने युवकों ने कहा पटाखों की बिक्री के लिए मात्र एक दिन का समय रह गया है। लाईसेंस के बारे में सटीम जानकारी न मिलने के कारण न तो माल खरीद कर ला पा रहे हैं और न ही स्टाल लगा पा रहे हैं। उन्होंने प्रशासन से जल्दी ही निर्णय लेने की मांग की है। एसडीएम सदानंद गुप्ता ने बताया शासन एवं उच्चाधिकारियों से आदेश मिलने के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा। आदेश न मिलने की दशा में पटाखों की बिक्री नहीं होगी। पटाखे विक्रेताओं के चेहरे उतर गए हैं पूरी साल की मेहनत पर पानी फिर गया है लोगों ने कर्ज लेकर पटाखे खरीदे और बनवाए लेकिन कोई भी समस्या का समाधान नहीं हुआ पटाखे विक्रेता काफी दुखी दिखाई दे रहे हैं

रिपोर्ट कैलाश राजपूत

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*