उत्तराखंड संस्कृत अकादमी के द्वारा आयोजित

चमोली से केशर सिंह नेगी की रिपोर्ट

उत्तराखंड संस्कृत अकादमी के द्वारा आयोजित जनपद चमोली की संस्कृत संगोष्ठी कालिदास जयंती के उपलक्ष्य पर बेबीनार के माध्यम से सम्पन्न हुई जिसमें जनपद संयोजक राजेन्द्र प्रसाद नौटियाल प्रवक्ता राजकीय इंटर कॉलेज आलकोट के द्वारा संचालन किया गया संगोष्ठि में कालिदास की रचनाओं में अखंड भारत का स्वरूप विषय पर विद्वानों द्वारा विस्तृत चर्चा की गई संगोष्टी में अकादमी से श्री हरीश गुरु रानी जी मुख्य वक्ता प्रो0 वनमाली विश्वाल जी सह वक्ता डॉ0 मनीष जुगरान जी मुख्य अथिति श्री शिव प्रसाद खाली जी निदेशक संस्कृत शिक्षा डॉ0शैलेन्द्र उनियाल जी श्री गिरीश तिवारी जी प्रो0 रविन्द्र कुमार पंडा जी श्री दसरथ कंडवाल जी दिनेश नौटियाल जी श्री ऋषि राम बहुगुणा जी केशव विजलवां जी श्री जगदम्बा प्रसाद भट्ट जी श्री विजय पाल सिंह रावत जी श्री संजय जोशी जी श्री चन्द्र कांत सिंह रावत जी श्री धन्वंतरि कंडवाल जी श्री यशपाल बिष्ट जी श्री नीरज चौहान जी आदि विद्वानों ने संस्कृत के संरक्षण और कालिदास की रचनाओ पर अपने अपने विचार व्यक्त किए भले अभी उत्तराखंड राज्य में संस्कृत भाषा को द्वितीय राजभाषा का दर्जा मिला है लेकिन जब तक संस्कृत 12 तक अनिवार्य विषय के रूप में विद्यालयों में पठन पाठन नही होता तब तक संस्कृत का विकास होना संभव नही होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*