विश्व एड्स दिवस पर अजास संगठन ने लोगों को दिया संदेश।

विश्व एड्स दिवस पर अजास संगठन ने लोगों को दिया संदेश।

बैतूल । कैलाश पाटिल

विश्व एड्स दिवस 1 दिसंबर को मनाया गया।बैतूल जिले के आठनेर तहसील के ग्राम गुनखेड़ में अनुसूचित जाति सामाजिक जन कल्याण संगठन अजास के जिलाध्यक्ष लीलाधर नागले ने स्वास्थ्य जागरूकता को लेकर यह संदेश दिया कि अच्छे जीवन और स्वास्थ्य के लिए स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता और सावधानियां बहुत जरूरी है, जिससे प्रत्येक व्यक्ति अपना सफलतम जीवन व्यतीत कर सकता है। श्री नागले ने बताया कि सन 1988 से विश्व एड्स दिवस अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाकर एचआईवी संक्रमण से उत्पन्न इस रोग के प्रति लोगों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विश्व स्वास्थ्य संगठन विभिन्न देशों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करता है। उल्लेखनीय है कि इसी परिपेक्ष में अनुसूचित जाति सामाजिक जन कल्याण संगठन अजास संगठन भी लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता का यह संदेश दे रहा है। एड्स रोग के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए लीलाधर नागले ने कहा कि एड्स का पूरा नाम ” एक्वायर्ड इम्यूनोडिफिशिएंसी सिंड्रोम” है जो एचआईवी वायरस के कारण तब उत्पन्न होता है जब कोई व्यक्ति एक से अधिक व्यक्तियों के साथ में यौन संबंध स्थापित करता है। इस गंभीर बीमारी पर नियंत्रण करने के लिए अमेरिकन टेक्नोलॉजी ने जीन थेरेपी विकसित कर सफलता पाई है। प्रत्येक व्यक्ति का नैतिक कर्तव्य बनता है कि वह अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहकर दीर्घायु जीवन व्यतीत करें। इसलिए हमें स्वास्थ्य संबंधी सावधानियों का उपयोग करना चाहिए। आज विश्व एड्स दिवस के इस अवसर पर आनंदराव चढ़ोकार, जग्गू चिल्हाटे, कृष्णा चढोकार, निलेश चढ़ोकार, हंसराज चिलहाटे, पूरनलाल साहू, व्यंकटराव चढ़ोकार, लीलाधर नागले, मानिकराव नागले, श्यामराव नागले, ईसना नागले, सुन्दरलाल वामनकर सहित कई लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*