Breaking News
Home / More / व्यक्ति की मौत के बाद नींद से जागा वन विभाग

व्यक्ति की मौत के बाद नींद से जागा वन विभाग

चमोली उत्तराखंड

व्यक्ति की मौत के बाद नींद से जागा वन विभाग
रिपोर्ट केशर सिंह नेगी

सोमवार सुबह 10:00 बजे एक आदमखोर बाघ ने जोशीमठ के पैंका निवासी गंगा सिंह जो कि किसी कारणवश अपने निवास स्थान से जोशीमठ मुख्य बाजार की ओर आ रहे थे

पर हमला किया गया जिसके बाद पीड़ित की मौके पर ही मौत हो गई

आपको बता दें इस आदमखोर बाघ द्वारा इससे पहले भी एक नेपाली मजदूर पर हमला किया गया है

नेपाली मजदूर की भी मौके पर ही मौत हो गई थी आदमखोर बाघ के बढ़ते आतंक को देख क्षेत्र में अब खौफ का माहौल बन चुका था धीरे-धीरे अब लोग अपने घरों में दुबकने को भी मजबूर हो गए थे

जनता के निरंतर रोष को देखते हुए वन विभाग ने इस आदमखोर बाघ को पकड़ने के लिए शिकंजा कस घटनास्थल पर कल देर रात्रि पिंजरा लगा दिया था परंतु बाघ कल रात को पिंजरे में नहीं फस सका जिसके बाद वन विभाग की टीम द्वारा आज सुबह एक बार फिर बात को पकड़ने के लिए घटनास्थल पर पिंजरा लगाया गया जिसके बाद बाघ सुबह 10:00 बजे वन विभाग द्वारा लगाए गए पिंजरे में आ फंसा जिसके बाद अब बिगड़ा हुआ माहौल शांति प्रिय वातावरण में ढलता दिखाई दे रहा है

इस बाघ के पिंजरे में कैद होने के बाद लोगों ने एक बार फिर से चैन की सांस ली है

क्या कहते हैं अधिकारी

इस पूरे वाक्य पर जोशीमठ वन रेंज के अधिकारी विजय लाल आर्य का कहना है
कि यह वन विभाग की एक बड़ी सफलता है
विजय लाल आर्य ने कहा कि उनके द्वारा कड़ी मशक्कत के बाद इस बाघ को काबू किया गया है
साथ ही विजय लाल आर्य ने यह भी कहा कि वे जब कल घटनास्थल पर मौजूद थे तो बाघ ने उन पर हमला करने का भी प्रयास किया विजय लाल आर्य का कहना है
कि वे घटनास्थल पर मृतक के कागजात तैयार कर रहे थे जिस दौरान बाघ ने उनके सामने छलांग लगा दी विजय लाल आर्य की मानें तो उनके और बाघ के बीच मात्र 3 मीटर का फासला था जिसके बाद आसपास मौजूद लोगों ने शोर मचाया तो बाग तकरीबन 40 मीटर दूर भाग निकला और वन विभाग जोशीमठ के रेंज अधिकारी विजय लाल आर्य का कहना है कि उन्होंने किसी तरह अपनी जान बचाई

क्या कहते हैं जनप्रतिनिधि

जोशीमठ नगर पालिका के अध्यक्ष शैलेंद्र सिंह पवार का कहना है
कि इस पूरे वाक्य के दौरान वे भी वन विभाग के साथ घटना स्थल पर मौजूद रहे
साथ ही शैलेंद्र पवार का कहना है कि वन विभाग को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है
वन विभाग ने कड़ी मशक्कत के बाद इस आदमखोर बाघ पर काबू पाया है
जिसके बाद अब क्षेत्र की जनता ने राहत की सांस ली है
साथ ही शैलेंद्र पवार ने वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों का धन्यवाद भी ज्ञापित किया है

क्या कहते हैं स्थानीय लोग

एक तरफ स्थानीय लोगों का कहना है कि वन विभाग इस ही दुर्घटना का इंतजार कर रहा था दुर्घटना होने के बाद ही वन विभाग नींद से जागता है

स्थानीय लोगों का कहना है कि उनके द्वारा वन विभाग से कई बार इस बाघ को पकड़ने का आग्रह किया गया था

परंतु वन विभाग ने उस पर कोई कार्यवाही न करते हुए मामले को टालते रहे

अब जब इस आदमखोर बाघ ने एक और व्यक्ति की जान ले ली तब जाकर वन विभाग हरकत में आया है

साथ ही स्थानीय लोगों का कहना है कि वन विभाग का लेट लतीफ हरकत में आना निराशाजनक है वन विभाग यदि समय रहते कार्रवाई कर बाघ को हिरासत में ले लेता तो इतनी बड़ी दुर्घटना नहीं होती

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*