चमोली,उत्तराखंड कृषि विज्ञान केंद्र ग्वालदम में मनाया गया विश्व मृदा दिवस

चमोली,उत्तराखंड कृषि विज्ञान केंद्र ग्वालदम में मनाया गया विश्व मृदा दिवस

थराली।रिपोर्ट केशर सिंह नेगी
संयुक्त राष्ट्र संघ की पहल पर प्रतिवर्ष आयोजित किए जाने वाले विश्व मिट्टी दिवस को चमोली जिले के कृषि विज्ञान केंद्र ग्वालदम मे मनाया गया। प्रतिवर्ष 5 दिसंबर को आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम के दौरान कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों ने जनपद के अलग-अलग स्थानों से आए किसानों को मृदा परीक्षण की जानकारी दी।

शनिवार को ग्वालदम स्थित कृषि विज्ञान केंद्र में चमोली जनपद के किसानों के साथ कृषि विज्ञान केंद्र ग्वालदम द्वारा विश्व मृदा दिवस आयोजित किया गया। इस अवसर पर केंद्र के वैज्ञानिक डॉ गिरीश जोशी द्वारा कहा गया कि भारत में इस वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जी के आव्हान पर मुद्रा दिवस पर की थीम स्वस्थ मिट्टी,हरे खेत को लेकर यह दिवस आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने किसानों का आह्वान किया कि वह अपने खेतों की मिट्टी की जांच कराएं, उसमें यदि किसी भी प्रकार की कोई कमी मिलती है तो पोषक तत्व देकर उसे ठीक किया जा सकता है। जब मिट्टी स्वस्थ रहेगी तो उससे अच्छी फसल ली जा सकती है। कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी अधिकारी डॉ अनिल पवार ने किसानों को उर्वरता बढ़ाने के सुझाव दिए। पवार ने कहा कि मिट्टी की उर्वरता बढ़ाने के लिए उसमें पोषक तत्व डाले जाने चाहिए। किस तरह के पोषक तत्व मिलाये जाए उसे पूर्व जांच की जानी चाहिए । उन्होंने किसानों से कहा कि वह केंद्र पर आकर मिट्टी की जांच कराएं वैज्ञानिक उन्हें निशुल्क रूप में मिट्टी को उर्वरा बनाने के लिए क्या चीजें उस में डाली जाए की सलाह देंगे। इस दौरान जोशीमठ, करणप्रयाग, थराली, देवाल विकास खंडों के तमाम किसान मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*