Breaking News
Home / More / कई महिनों बाद लोगों मिली राहत नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ*सालों से लंबित मामलों का हुआ निराकरण

कई महिनों बाद लोगों मिली राहत नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ*सालों से लंबित मामलों का हुआ निराकरण

*कई महिनों बाद लोगों मिली राहत नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ*सालों से लंबित मामलों का हुआ निराकरण

‌‌राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के आदेशानुसार एवं कटनी जिला सत्र न्यायालय न्यायाधीश माननीय अचल पालीवाल जी के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण प्रभारी माननीय संजय कस्तवार एवं माननीय मनीष कौशिक जी के नेतृत्व में जिला सत्र न्यायालय न्यायाधीश माननीय अचल पालीवाल जी के मुख्य आतिथ्य में आयोजित र्सवप्रथम मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित कर उपस्थित न्यायधीशों की गरिमामय उपस्थिति में एवं समस्त समाजसेवी व PLV एवं समस्त जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पदाधिकारियों की उपस्थिति में नेशनल लोक अदालत का आयोजन प्रारंभ किया गया इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में भी काफी लंबित मामलों का निराकरण इस नेशनल लोक अदालत में राहत मिली प्री-लिटीगेशन के 424 प्रकरणों का निराकरण हुआ, इस दौरान बिजली बिल,मोटर दुर्घटना, आपराधिक मामलों दावा सहित पक्षकारों में आपसी सुलहनामा आंनद पूर्वक समझाया कर समाधान किया गया क्योंकि कोरोना महामारी फैलने से काफी लोगों के इस नेशनल लोक अदालत में सालों से लंबित मामलों का हुआ निराकरण। इस दौरान समाजसेवी व PLV श्रीमती रेखा अंजू तिवारी द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि इस कोरोनावायरस में लोगों को उत्साहित करते हुए उन्हें अपने जीवन को सुखमय बनाने व सुरक्षित रखने हेतु मास्क लगाना अनिवार्य है और थोड़ी थोड़ी देर में अपने हाथों में सैनेटाइजर जरूर लगाएं और दूसरों को जागरूक करें इस बात का विशेष ध्यान दिया गया साथ ही दूर ग्रामीण क्षेत्रों से आए शरणार्थियों को इस नेशनल लोक अदालत के आयोजन से राहत मिली। इस दौरान समाजसेवी व PLV श्रीमती रेखा अंजू तिवारी, श्रीमती आराधना तिवारी, शहनाज़ बेगम खान,श्री मति ममता गर्ग,श्री मति शशि दुबे, श्रीमती मनीषा प्यासी, अधिवक्ता श्रीमती मीना सिंह बघेल, श्रीमती अर्चना गुप्ता , श्रीमती माया सिंह चौहान सहित सभी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पदाधिकारियों की गरिमामय उपस्थिति में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*