Breaking News
Home / More / पूरा काम,पूरा दाम विषेष अभियान का शुभारंभ,जिला कलक्टर मीणा ने भादरेष तालाब में गेती से खुदाई कर अभियान की शुरूआत की।

पूरा काम,पूरा दाम विषेष अभियान का शुभारंभ,जिला कलक्टर मीणा ने भादरेष तालाब में गेती से खुदाई कर अभियान की शुरूआत की।

पूरा काम,पूरा दाम विषेष अभियान का शुभारंभ,जिला कलक्टर मीणा ने भादरेष तालाब में गेती से खुदाई कर अभियान की शुरूआत की।

मनरेगा से रोजगार एवं महिला सषक्तिकरण के साथ परिसंपत्तियों का सृजन हुआ।

गिडा बाड़मेर से वागाराम बोस की रिपोर्ट

बाड़मेर,16 नवंबर। बाड़मेर जिले में बुधवार को मनरेगा के तहत पूरा काम,पूरा दाम विषेष अभियान की शुरूआत हुई। जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने भादरेष तालाब में गेती से मिटटी की खुदाई कर अभियान की शुरूआत की। उन्हांेने राज्य सरकार की मंषा के अनुरूप श्रमिकांे से पूरा काम करने के दायित्व का निर्वहन कर पूरा दाम प्राप्त करने का आहवान किया।
इस अवसर पर जिला कार्यक्रम समन्वयक एवं जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने कहा कि मनरेगा कुषल एवं अकुषल श्रमिकांे के लिए वरदान साबित हुई है। स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलने के साथ महिला सषक्तिकरण को बढ़ावा मिला है। इससे परिसंपतियांे का सृजन हुआ है। मीणा ने कहा कि कोरोना काल के दौरान मनरेगा की बदौलत प्रवासियांे एवं अन्य लोगांे को रोजगार मिला। उन्हांेने कहा कि राज्य सरकार की मंषा है कि श्रमिकांे को उनकी ओर से किए जाने वाले काम के एवज मंे पूरा भुगतान मिले। इस अभियान के दौरान पांच-पांच के गु्रप मंे काम करते हुए श्रमिकांे को पूरी मजदूरी दिलाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्हांेने श्रमिकांे से आहवान किया कि वे निर्धारित कार्य पूरा करने का दायित्व निभाते हुए पूरा दाम प्राप्त करें। उन्हांेने कहा कि मनरेगा मंे पारदर्षिता को बढ़ावा देते हुए श्रमिकांे के खाते मंे सीधे भुगतान किया जा रहा है। उन्हांेने कहा कि यह विष्व की सबसे बड़ी योजना है जिसमंे श्रमिकांे को उनके गांव मंे रोजगार मिल रहा है। इस दौरान जिला कलक्टर मीणा ने पूरा काम पूरा दाम विषेष अभियान के बारे मंे विस्तार से अवगत कराने के साथ ग्रामीणांे से रोजगार की उपलब्धता एवं जन समस्याआंे तथा मेटांे से कार्य आवंटन के बारे मंे जानकारी दी। अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने कहा कि राज्य सरकार ने पूरा काम, पूरा दाम विषेष अभियान की पूरे प्रदेष मंे शुरूआत की है। राज्य सरकार की मंषा है कि श्रमिकांे को अधिकतम मजदूरी मिले। उन्हांेने कहा कि कोविड के दौरान सरकार का मनरेगा पर विषेष फोकस रहा ताकि प्रवासियांे को इसके जरिए रोजगार मिल सके। उन्हांेने कहा कि मौजूदा समय मंे दैनिक मजदूरी 220 रूपए है। प्रतिदिन प्रत्येक श्रमिक को पूरी मजदूरी मिले,इसके लिए निर्धारित कार्य आवष्यक रूप से पूरा करने का प्रयास किया जाए। इस अवसर पर प्रधान प्रतिनिधि गिरधरसिंह, सरपंच प्रतिनिधि अलाराम प्रजापत ने संबोधित करते हुए आभार जताया। कार्यक्रम के दौरान बाड़मेर पंचायत समिति के विकास अधिकारी सुरेष कविया, अधिषाषी अभियंता राजेन्द्र चौधरी, सहायक अभियंता रामलाल जैन, सरपंच भूरी देवी, अक्षयदान बारहठ समेत कई गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन मांगूदान ने किया।
जिला कलक्टर ने की शुरूआतः जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने तालाब मंे गेती से मिटटी खोदकर अभियान की शुरूआत की। मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू एवं अधिषाषी अभियंता राजेन्द्रसिंह ने तगारी मंे मिटटी उठवाई। ग्रामीणांे ने जिला कलक्टर मीणा को उनकी मंषा के अनुरूप बेहतरीन कार्य करते हुए मॉडल तालाब निर्माण करवाने का भरोसा दिलाया।
जिले भर मंे हुए आयोजनः राज्य सरकार के निर्देषानुसार पूरा काम, पूरा दाम विषेष अभियान के तहत जिले भर मंे आयोजन हुए। इस दौरान जन प्रतिनिधियांे के साथ प्रषासनिक अधिकारियांे ने अभियान की शुरूआत की।

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*