Breaking News
Home / More / जिला शिक्षा अनुश्रवण समिति एवं मध्यान्ह भोजन योजना के जनपद स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक सम्पन्न

जिला शिक्षा अनुश्रवण समिति एवं मध्यान्ह भोजन योजना के जनपद स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक सम्पन्न

जिला शिक्षा अनुश्रवण समिति एवं मध्यान्ह भोजन योजना के जनपद स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक सम्पन्न

जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में कल सायंकाल कैम्प कार्यालय के सभागार में जिला शिक्षा अनुश्रवण समिति एवं मध्यान्ह भोजन योजना के जनपद स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित परिषदीय विद्यालयों की अवस्थापना सुविधाओं के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि सेफ ड्रिन्किंग वाटर, ब्वाय एवं गर्ल्स ट्वायलेट, रनिंग वाटर ट्वायलेट, हैण्ड वाशिंग यूनिट, किचेन फैसेलिटी, पेन्टिंग ऑफ स्कूल कैम्पस सहित अन्य कार्य जो अभी तक अवशेष बचे है उन्हें जल्द से जल्द से पूर्ण किया जाये। उन्होने सम्बन्धित अधिकारी को निर्देशित किया कि परिषदीय विद्यालयों जहां पर अभी चहारदीवारी का निर्माण कार्य नही हुआ है वहां पर चहारदीवारी का कार्य समयान्तर्गत पूर्ण कराये। आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत विद्यालय विद्युत संयोजन में जनपद की स्थिति 52 प्रतिशत असंतृप्त पायी गयी जिस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्ति की और निर्देशित किया कि विद्यालय में विद्युत संयोजन का कार्य जल्द संतृप्त कराये। आपरेशन कायाकल्य के अन्तर्गत जो फीडिंग का कार्य विकास खण्डों में किया जा रहा है यदि उसमें लापरवाही बरती जायेगी तो सम्बन्धित के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि विकास खण्ड स्तरीय टास्क फोर्स की समिति जो बनायी गयी है उसमें प्रत्येक सदस्य प्रत्येक माह अपने विकास खण्ड के 05 विद्यालयों का निरीक्षण करें और प्रेरणा एप अपलोड करें। इसी प्रकार जिला स्तरीय टास्क फोर्स के सदस्य भी न्यूनतम 05 विद्यालयों का निरीक्षण करें और प्राप्त आख्याओं को प्रेरणा एप पर अपलोड करें। मिड-डे मील योजना के अन्तर्गत विद्यालय के खुलने पर छात्र/छात्राओं को नवीन मेन्यू के अनुसार भोजन गुणवत्तायुक्त उपलब्ध कराया जाये इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न होने पाये। बैठक के दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा बताया गया कि शासन के निर्देशानुसार जनपद में परिषदीय विद्यालयों में कक्षा-1 से 5 तक प्राथमिक विद्यालय एवं कक्षा-6 से 8 तक उच्च प्राथमिक विद्यालय के नाम से लिखा जायेगा तथा जहां पर कक्षा-1 से 8 तक विद्यालय होगें वहां पर उच्च प्राथमिक विद्यालय (कक्षा-1 से 8 तक) के नाम से लिखा जायेगा। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी इन्द्र भूषण वर्मा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, समस्त अधिशासी अधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*