सेवामित्र एप व पोर्टल पर सर्विस कैटेगरी के पात्र सेवा प्रदाता करायें पंजीकरण उठाये लाभ

सेवामित्र एप व पोर्टल पर सर्विस कैटेगरी के पात्र सेवा प्रदाता करायें पंजीकरण उठाये लाभ

जिला सेवायोजन अधिकारी विजय बहादुर सिंह सेंगर ने बताया है कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा श्रम एवं सेवायोजन विभाग के माध्यम से सेवामित्र एप व पोर्टल का विकास किया जा रहा है जिसके द्वारा नियोजकों व उपभोक्ताओं के मध्य एक साक्षा प्लेटफार्म विकसित हो सके तथा सेवा प्रदाता उपभोक्ताओं की मांग के अनुरूप कुशल कर्मियों के माध्यम से उन्हें अच्छी सुविधायें प्रदान कर सके। इसके लिये सरकार अभी 14 सर्विस कैटेगरी निर्धारित की गयी जिनमें ब्यूटीशियन, कार क्लीनिंग, कारपेन्टर्स, कुकिंग, इलेक्ट्रीशियन्स, इलेक्ट्रानिक्स सर्विस एण्ड रिपेयरिंग, होम पेन्टिंग, हाउस क्लीनिंग, हाउस हेल्प, मैसेज, मेन्स ग्रूमिंग, पोस्ट कन्ट्रोल, प्लम्बर्स व रनर सम्मिलित है। उन्होने सेवामित्र एप पोर्टल पर पंजीकरण हेतु सेवा प्रदाताओं के लिये अर्हताओं के बारे में बताया है कि वह सेवायोजन विभाग के पोर्टल पर नियोजक के रूप में पंजीकृत हो (यदि पंजीकरण नहीं है तो सेवायोजन कार्यालय में सम्पर्क कर पंजीकरण करा सकते है), जीएसटी एक्ट के अन्तर्गत पंजीकृत हो, संस्था/फर्म का पंजीकरण अप्रैल 2017 से पूर्व का हो, संस्था/फर्म के पास कम से कम 30 कुशल कर्मी कार्यरत हो, अपने कार्य क्षेत्र कम से कम तीन वर्ष का अनुभव हो, गत तीन वर्षो में न्यूनतम 25 लाख का टर्न ओवर रहा हो तथा गत तीन वर्षो में सकारात्मक नेटवर्थ हो। उन्होने सेवामित्र एप व पोर्टल पर पंजीकरण के लाभ के बारे में बताया है कि सरकार द्वारा एप को विकसित किये जाने के कारण नियोजकों व उपभोक्ताओं के मध्य विश्वसनीयता, सभी सेवाओं के लिये एक ही प्लेटफार्म, कार्यक्षेत्र का विस्तार जिसमें उपभोक्ताओं तक पहुॅच होगी, मोबाइल एप के माध्यम से व्यापार का विस्तार, उपभोक्ताओं की मांगों के अनुरूप सेवाओं की गुणवत्ता का सतत् मूल्यांकन व उपभोक्ताओं व सेवा प्रदाताओं के अधिकारी की रक्षा है। सेवामित्र एप व पोर्टल पर पंजीकरण कराने के इच्छुक 14 सर्विस कैटेगरी के पात्र सेवा प्रदाता किसी भी कार्य दिवस में सेवायोजन कार्यालय प्रतापगढ़ से सम्पर्क स्थापित कर सकते है।

प्रतापगढ़ उत्तर प्रदेश से जिला रिपोर्टर बीके पांडे की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*