भाईचारे की मिसाल कायम कर किया चक्का जाम, किसी को नहीं किया परेशान, इमरजेंसी सेवाएं रही बहाल : अनिल नांदल उर्फ बल्लू प्रधान

भाईचारे की मिसाल कायम कर किया चक्का जाम, किसी को नहीं किया परेशान, इमरजेंसी सेवाएं रही बहाल : अनिल नांदल उर्फ बल्लू प्रधान – जाम के दौरान महिलाओं ने कीर्तन कर जताया विरोध
अम्बाला, (जयबीर राणा थंबड़)। कृषि कानून रद्द कराने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों ने शनिवार को हरियाणा में चक्का जाम कर दिया। इसी कड़ी में भारतीय किसान यूनियन अंबावता के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नांदल उर्फ बल्लू प्रधान ने टीम गठित कर जिला रोहतक के चारों तरफ हाईवे जाम रखा और खुद गांव बोहर में नाका लगाकर शांति पूर्ण चक्का जाम करवाया। प्राप्त जानकारी के अनुसार किसान आंदोलन के लिए हुए चक्का जाम की जानकारी देते हुए बल्लू प्रधान ने बताया कि संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर आज दोपहर 12 से तीन बजे तक नेशनल और स्टेट हाईवे बंद रखे गए। इसके बाद एक मिनट तक किसानों ने अपने वाहनों के हॉर्न बजाकर विरोध जताया। उन्होंने बताया कि इस जाम को लेकर महिलाओं में खासा जोश था और जिन्होंने धरना स्थल पर कीर्तन किया ताकि सरकार को सद्बुद्धि आए और इन कानूनों को वापस लेकर देश के किसानों को राहत दे। भाकियू नेता बल्लू प्रधान ने कहा कि जब तक तीनों कानून रद्द नहीं होंगे, आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से जारी रहेगा। आज का बंद भाईचारे की मिसाल कायम कर गया और किसी को परेशान नहीं किया गया तथा अमरजेंसी सेवाएं भी बहाल रखी गई। साथ ही उन्होंने बताया कि जाम में फंसे लोगों को चाय,पानी व खाना खिलाया गया। अनिल नांदल ने कहा कि आज सिर्फ जाम लगाया है, आगे की रणनीति भी जल्द तैयार होगी। उन्होंने कहा कि सरकार को आज ये एक ट्रेलर दिखाया गया है और सरकार अभी भी नहीं जागी तो पिक्चर भी दिखाई जाएगी। चक्का जाम के दौरान एमरजेंसी सेवाओं एंबुलेंस, स्कूल बस, सुरक्षा बलों के वाहन नहीं रोके गए। बल्लू प्रधान चक्का जाम के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील करते हुए नजर आए। उन्होंने बताया कि तीन बजे तक चक्का जाम रहा और उसके बाद सभी ने अपनी जगह पर वाहनों के एक मिनट तक हॉर्न बजाए ताकि गूंगी बहरी सरकार के कानों तक आवाज पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*