Breaking News
Home / More / किसान खेती के साथ व्यापार ,व्यवसाय व उद्योग भी स्थापित कर सकेंगे

किसान खेती के साथ व्यापार ,व्यवसाय व उद्योग भी स्थापित कर सकेंगे

किसान और खेती देश की रीढ़ – कृषि मंत्री श्री पटेल
किसान खेती के साथ व्यापार ,व्यवसाय व उद्योग भी स्थापित कर सकेंगे
नरवाई से बनेगा कोयला, पायलेट प्रोजेक्ट होशंगाबाद में
होशंगाबाद 28 फरवरी 2021/किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि किसान और खेती देश की रीढ़ हैं। किसान मजबूत होंगे तो देश मजबूत होगा। किसानों की आय को दोगुना करने और खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए प्रदेश सरकार कृत संकल्पित हैं। किसानों के सर्वांगीण विकास के लिए नीतियों ओर नियमों में परिवर्तन किए गए हैं। चना, मसूर एवं सरसों अब गेहूं के पहले खरीदा जाएगा, जिसका सीधा लाभ लघु एवं सीमांत किसानों को मिलेगा।
मंत्री श्री कमल पटेल आज होशंगाबाद के पवारखेड़ा में आयोजित मध्य प्रदेश ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी संघ के प्रांतीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थें। इस अवसर पर विधायक होशंगाबाद डॉ सीतासरन शर्मा, विधायक सोहागपुर श्री विजयपाल सिंह, श्रीमती माया नारोलिया, जनपद अध्यक्ष श्रीमती संगीता सोलंकी, श्री मनोहर गिरी ,श्री पीयूष शर्मा, श्री दिलीप उपाध्याय, श्री संजय लालवानी, श्री दिनेश तिवारी ,श्री संतोष कुमार शर्मा, संयुक्त संचालक कृषि जितेंद्र सिंह सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

लागत में 50 प्रतिशत लाभ जोड़कर समर्थन मूल्य तय किया गया
कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में किसानों की आय को दोगुना करने के लिए सरकार द्वारा निरंतर कार्य किए जा रहे हैं। स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू कर किसानों की फसल लागत में 50% लाभ जोड़कर समर्थन मूल्य घोषित किया गया है। जिससे समर्थन मूल्य में निरंतर वृद्धि हो रही हैं। कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि समर्थन मूल्य पर चना ,मसूर और सरसों की उपज प्रतिदिन 25 क्विंटल खरीदे जाने की सीमा को समाप्त कर दिया गया हैं। अब किसान अपनी उपार्जन क्षमता अनुसार अपनी चना, मसूर एवं सरसों की फसल बेच सकेंगे, जिससे किसानों के धन और समय दोनों की बचत होगी।

गांवो के विकास के द्वार खुलेंगे
कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के माध्यम से अब किसानों को गांव की आबादी की भूमि पर मालिकाना हक प्राप्त होगा। योजना को पायलट के तौर पर हरदा एवं डिंडोरी जिले में लिया गया है। आने वाले समय में सभी जिलों में योजना का क्रियान्वयन किया जाएगा। योजना के तहत किसान अपनी भूमि पर बैंको से विभिन्न व्यवसायिक एवं व्यापारिक प्रयोजन के लिए किफायती ब्याज दर पर ऋण प्राप्त कर सकेंगे । साथी ही व्यापार, व्यवसाय एवं उद्योग स्थापित कर अपनी आलू ,प्याज, टमाटर आदि उत्पादों का प्रसंस्करण कर एमएसपी की जगह एमआरपी पर बेच सकेंगे।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में गांवो के विकास के द्वार खुलेंगे।

नरवाई से बनेगा कोयला, पायलेट प्रोजेक्ट होशंगाबाद में
कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि नरवाई से कोयला बनाया जाएगा। इसका पायलेट प्रोजेक्ट होशंगाबाद में प्रारंभ होगा। नरवाई से कोयला बनने पर जहाँ एक ओर पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाया जा सकेगा, वहीं दूसरी ओर किसानों को आर्थिक लाभ प्राप्त होगा। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि नरवाई जलाने से रोकथाम हेतु विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। साथ ही फसल अवशेष प्रबंधन में उपयोगी कृषि उपकरणों के प्रयोग को बढ़ावा दिया जाएगा।

सर्व सुविधायुक्त होगी मंडिया
कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि प्रदेश की सभी मंडियों को किसानों के लिए सर्व सुविधायुक्त आदर्श मंडी के रूप में तैयार किया जाएगा। जिसमें किसानों को आवश्कतानुसार मंडियों में ही गुणवत्ता युक्त खाद, बीज एवं दवाइयां प्राप्त हो सकेगी। साथी ही मंडी में कैंटीन भी बनाई जाएगी। जिसमें वे आर्मी कैंटीन कि तरह अच्छी गुणवत्ता के कृषि उपकरण व रोजमर्रा/ घरेलू सामान सस्ती कीमतों पर ले सकेंगे। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि खाद बीज एवं कीटनाशक में गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

कृषि में विश्व स्तर पर की गई प्रतिष्ठा स्थापित
विधायक होशंगाबाद डॉ सीताशरण शर्मा ने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार की किसान हितेषी नीतियों से प्रदेश खेती किसानी में निरंतर विकास कर रहा है। प्रदेश में कृषि क्षेत्र में देश ही नहीं बल्कि विश्व स्तर पर भी अपनी प्रतिष्ठा स्थापित की हैं।

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*