Breaking News
Home / More / लाकडाउन के चलते ग्रामीण क्षेत्र में सुराप्रेमीयो की धूम खुले आम बिक रही शराब जिम्मेदार कुभंकरण की नींद सोये ?

लाकडाउन के चलते ग्रामीण क्षेत्र में सुराप्रेमीयो की धूम खुले आम बिक रही शराब जिम्मेदार कुभंकरण की नींद सोये ?

लाकडाउन के चलते ग्रामीण क्षेत्र में सुराप्रेमीयो की धूम खुले आम बिक रही शराब जिम्मेदार कुभंकरण की नींद सोये ?

होंशगाबाद:- अजब देरी दुनिया अजब तेरा खेल कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लाकडाउन लगाने का क्या फायदा ? कोरोना को रोकने के लिए शहर में नाकाबंदी चाक चैबंध कर लोगो की आवाजाही पर रोक लगा रखा है। वही जबाबदारो की लापरवाही ओर अपने कर्तव्यो के प्रति निष्ठावान ना होना इसका फायदा उठाते हुए महुआ शराब के साथ अंग्रेजी शराब की बिक्री जोरों से चल रही है। दुकान बंद होने से मदिरा प्रेमियों को शराब नहीं मिल रही थी, मगर विभाग की लापरवाही कहे या मिली भगत से बहुत बडा अवैध शराब का गिरोह जिले में संक्रिय है, लाकडाउन के चलते शहरो में दारू बडी बडी गालियो से आती है और भारी दामों में बिक रही है ? सम्पूर्ण जिले मे बाहर से शराब अवैध रूप से बिक रही शराब की पूर्ति होने लगी है। लाकडाउन की वजह से अन्य दुकान समेत सभी जगहों के शराब दुकानें भी बंद है। इससे शराब दुकानें भी बंद है। इससे शराब मिलना मुश्किल हो गया है। इसका फायदा फायदा उठाकर कुछ लोग प्रशासन को चकमा या फिर यू कहे प्रशासन मिलकर खुलेआम शराब की बिक्री कर रहे हैं। इन दिनों हम गाॅव में शराब बेची जा रही है। शाम ढलते ही मदिरा प्रेमियों की भीड़ उमड़ पड़ती है और शराब खरीदकर अलग अलग जगहों पर जाकर शराब का सेवन करते है। शराब की लत से युवा पीढ़ी भी बर्बाद हो रही है, इससे अभिभावक भी काफी चिंतित व परेशान है। एक ओर शासन और प्रशासन कोरोना जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए लगातार एडवाइजरी जारी कर घरों में रहने की चेतावनी दी जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ चंद पैसो के लिए विभाग के अधिकारी कुंभकरणीय नीद में सोय है और पूरी साड गाड कर शराब बेचने में पूरा सहयोग कर रहे है सरेआम कानून की धज्जियां उड़ाई जा रही है। लोगो को दारू बेचने के लिए लागत कम और मुनाफा ज्यादा होने की वजह से धंधा खूब फल-फूल रहा है। देखना है कि कब कैसे कौन इन जबाबदारो को कुंभकरण की नीद से उठा पता कि नही ?

About आंखें क्राइम पर

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*