स्ट्रीट वेंडर योजना का लाभ दिलाने में नाकाम समन्वयक को दिए सेवा से प्रथक करने का नोटिस

स्ट्रीट वेंडर योजना का लाभ दिलाने में नाकाम समन्वयक को दिए सेवा से प्रथक करने का नोटिस
एनआरएलएम तथा बैंकर्स की समीक्षा बैठक में कलेक्टर डॉ. जैन हुए नराज
धार | 15-दिसम्बर-2021

बैंकर्स लक्ष्य अनुरूप पथ विक्रेता योजना के आए प्रकरणों को समयसीमा में स्वीकृत करने की कार्यवाही करें। इसके लिए बैंक प्लानिंग कर अपना टारगेट पूरा करें। जिन ब्लाकों में प्रगति बहुत कम है उन पर विशेष ध्यान दिया जाए। यह निर्देश कलेक्टर डॉ. पंकज जैन ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित एनआरएलएम तथा बैंकर्स की समीक्षा बैठक में दिए।
बैठक में उन्होंने पथ विक्रेता योजना के तहत प्रगति बहुत कम होने पर विकासखण्ड कुक्षी के समन्वयक की सेवा समाप्ति तथा विकासखण्ड मनावर के विकासखण्ड समन्वयक को प्रगति कम होने पर कारण बताओ नोटिस जारी करने के लिए निर्देश दिए। इसी प्रकार उन्होंने कहा कि जो समन्वयक एक सप्ताह में प्रगति नहीं लाते है तो उनके विरूद्ध भी कार्यवाही की जाए। सीसीएल के प्रकरण में सरदारपुर, उमरबन, मनावर, नालछा प्रगति लाए । बैंक ऑफ इण्डिया एवं स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया के शाखा प्रबंधक को कार्य में रूचि न लेने के कारण उन्हें एक सप्ताह का कार्य मे सुधार हेतु चेतावनी दी गई। विकासखण्ड बाग के प्रभारी विकासखण्ड समन्वयक को विकासखण्ड स्तरीय जानकारी न होने पर कारण बताओ नोटिस जारी किये जाने हेतु आदेशित किये गये। जिला परियोजना प्रबंधक को भी टारगेट पूरा न करने के संबंध में चेतावनी पत्र जारी किये जाने के संबंध में निर्देश दिये गये।
ज्ञात हो कि प्रभारी विकासखंड समन्वयक अमित चतुर्वेदी को कुक्षी में पथ विक्रेता योजना में लक्ष्य के विरुद्ध स्वीकृत एवं वितरित प्रकरणों की प्रगति जिले में न्यूनतम होने तथा इन्हे कम प्रगति के संबंध में पूर्व में भी बैठकों में लक्ष्य प्राप्ति हेतु निर्देशित किया गया था। वित्तीय वर्ष के 9 माह व्यतीत होने के उपरांत भी विकासखंड की प्रगति कुल 9 प्रतिशत पाए जाने, विकासखंड समन्यवय मनावर आशीष शुक्ला द्वारा मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना एवं समूह सीसीएल में लक्ष्य के विरुद्ध स्वीकृत एवं वितरित प्रकरणों की प्रगति न्यूनतम होने एवं 9 माह व्यतीत होने के उपरांत भी विकासखंड में ग्रामीण पथ विक्रेता योजना की प्रगति 10 प्रतिशत एवं समूह सीसीएल की प्रगति 35 प्रतिशत करने तथा जिला प्रबंधक कौशल उन्नय एवं रोजगार एवं प्रभारी समन्वय बाग सरोज पाटीदार को विगत दो माह पूर्व से विकासखण्ड प्रबंधक बाग का प्रभार सौंपा गया था इसके बावजूद भी इनके द्वारा 4-5 बार ही विकासखण्ड में भ्रमण किया गया है। विकासखंड बाग का प्रभार सौंपने के उपरांत भी बैठक में विकासखण्ड बाग की जानकारी के साथ सहायक विकासखण्ड प्रबंधक को उपस्थित रहने हेतु निर्देशित किया गया। दो माह पूर्व चार्ज लेने के बावजूद भी उन्हे विकासखण्ड स्तरीय योजना की कोई भी जानकारी नहीं थी वित्तीय वर्ष के 9 माह व्यतीत होने के उपरांत भी विकासखंड में ग्रामीण पथ विक्रेता योजना की प्रगति 23.76 प्रतिशत एवं समूह सीसीएल की प्रगति 36 प्रतिशत होन पर इन्हें कारण बताओं सूचना पत्र जारी किया गया है।
बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत आशीष वशिष्ठ, ब्लाक के समन्वयक तथा बैंकर्स मौजूद रहे।
धार से शालू अग्रवाल की खास रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*