अव्यवस्था पाए जाने पर 3 छात्रावास अधीक्षकों को कारण बताओ सूचना पत्र

अव्यवस्था पाए जाने पर 3 छात्रावास अधीक्षकों को कारण बताओ सूचना पत्र

हरदा | 19-दिसम्बर-2021

संभागीय उपायुक्त जनजातीय और अनुसूचित जाति विकास नर्मदापुरम संभाग श्री जेपी यादव ने हरदा जिले के 6 छात्रावासों का आकस्मिक निरीक्षण किया। छात्रावासों मे अव्यवस्था पाए जाने पर उन्होंने नाराजगी प्रकट की। श्री यादव ने बताया कि बालक उत्कृष्ट छात्रावास टिमरनी के अधीक्षक श्री शिवप्रसाद धुर्वे, रहटगांव बालक छात्रावास के अधीक्षक श्री राम कृष्ण चौहान की 2 वेतनवृद्धि तथा सीनियर आदिवासी बालक छात्रावास हरदा के अधीक्षक श्री बृजलाल चाकर्डे के विरुद्ध एक वेतन वृद्धि रोके जाने हेतु कारण बताओ सूचना पत्र जारी किये जारी जायेगा।
श्री यादव ने बताया कि उत्कृष्ट बालक छात्रावास टिमरनी मे कोचिंग देरी से प्रारम्भ करने, पर्याप्त संख्या मे पंखे चालू न होने, छात्रावास की खिड़कियों की मच्छर जालियां टूटी होने, छात्रावास में साफ सफाई न होने, शौचालयों मे लाइट न लगे होने जैसी अव्यवस्थाऐं पाई गईं। इसके साथ ही बालक सीनियर छात्रावास हरदा मे टॉयलेट्स व बाथरूम के दरवाज़े और मच्छर जालियां टूटी हुई पाई गईं। टॉयलेट- बाथरूम के नल बंद पाए गये। उन्होंने बताया कि रहटगांव बालक छात्रावास मे टॉयलेट बाथरूम के दरवाज़े टूटे पाए जाने, कमरों और शौचालय- बाथरूम मे मकड़ी जाले लगे हुए पाए जाने, मच्छर जालियां न होने, भोजन की गुणवत्ता ठीक न पाया जाना, चिकित्सा परीक्षण न पाए जाने, सेप्टिक टैंक खाली न कराने और अभिलेखों का सही और समय पर संधारण न किये जाने जैसी लापरवाही और अनियमिताएं पाई गईं।
श्री यादव ने हरदा जिले के दूरस्थ क्षेत्र के बोरी गांव स्थित छात्रावास तथा आश्रम का भी निरीक्षण किया, यहां के छात्रावास की व्यवस्थाओं पर संतोष प्रकट किया। सभी छात्रावासों मे उन्होने बच्चों से छात्रावास व्यवस्था एवं पढ़ाई के संबंध में चर्चा भी की। छात्रावासों का निरीक्षण उपरांत उन्होंने जिला संयोजक श्री सीपी सोनी को निर्देशित किया कि कन्या शिक्षा परिसर रहटगांव के नवनिर्मित भवन का आधिपत्य लेकर संस्था का संचालन नवीन भवन में कराया जाए। उत्कृष्ट बालक छात्रावास के समीप निर्मित कन्या छात्रावास का अधिपत्य लेकर छात्रावास का संचालन किया जाए। बालक आश्रम बोरी के परिसर में स्थित वन विभाग अनुपयोगी आवास गृह को वन विभाग के अधिकारियों से संपर्क कर विभाग के आधिपत्य लेकर उसमें बच्चों के अतिरिक्त आवास की व्यवस्था की जाए। संभागीय उपायुक्त ने जिला संयोजक को निर्देशित किया कि वे सतत रूप से छात्रावासों का भ्रमण कर गंभीरता से निरीक्षण करें तथा कमियां पाए जाने पर उन्हें दूर करें। व्यवस्था में लापरवाही बरतने और अनियमितता करने वाले वाले छात्रावास अधीक्षकों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करें ताकि व्यवस्था में सुधार हो सकेI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*