राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने नुक्कड़ नाटक से नशे के दुष्प्रभाव बताए

राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने नुक्कड़ नाटक से नशे के दुष्प्रभाव बताए

बराड़ा 27 दिसंबर (जयबीर राणा थंबड़)

कस्बा के संत मोहन सिंह ख़ालसा लबाना  गर्ल्स कॉलेज परिसर  में सात दिवसीय राष्ट्रीय सेवा योजना के  के चौथे दिन  की शुरूआत कॉलेज प्राचार्या डॉ प्रवीण वर्मा की उपस्थिति मैं योजना समन्वयक डॉ नवनीत कौर तथा सदस्य सीमा सैनी द्वारा की । एनएसएस कैम्प का शुभारंम गुरूद्वारे में जाकर छोटे साहिब जादो की शाहदत को नमन  करके किया गया l डॉ रीतू चांदना में एनएसएस के महत्व के बारे में बताते हुए कहा कि हमारी राष्ट्रीय सेवा योजना शिवर का थीम आत्मनिर्भर भारत है भारत को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 12 मई 2020 को इस अभियान की घोषणा की थी जिसमें उन्होंने देश को संबोधित करते हुए कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए यह एक अच्छी पहल है इस अभियान के तहत भारत आने वाले कुछ सालों में अधिकतर वस्तुओं का निर्माण भारत में किया जाएगा इस कारण से ही इस अभियान का नाम आत्मनिर्भर रखा गया है इस अभियान के तहत उन सभी विदेशी निर्माताओं को कम करना है जिस वजह से भारत का ज्यादातर व्यापार दूसरे पड़ोसी देशों पर निर्भर है इसमें बाहर की वस्तुओं पर निर्भर न रहकर बाहर अपने स्वयं के स्तर पर अच्छी गुणवत्ता वाले प्रोडक्ट को हमारे देश में ही तैयार करना है इस अभियान में शामिल हैlडॉ साधना ने कॉलेज छात्राओं को स्वच्छ,  स्वास्थ्य और आत्मनिर्भर भारत के विषय में बताते हुए कहा कि हमारे लिए स्वास्थ्य बहुत जरूरी है आपको करोना की लड़ाई में आगे आने व इनको जीतने के लिए स्वच्छता की जरूरत है इसके लिए स्वच्छ भारत अभियान चलाए गए हैं जो हमें बताते हैं कि हमें अपने आसपास,  अपने समाज को अपने पर्यावरण को साफ रखना है माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि संकल्प के साथ हम सब यह कर सकते हैं हमें मोदी जी द्वारा चलाए गए आत्मनिर्भर भारत अभियान में अपना पूर्ण सहयोग देना चाहिएl

 एनएसएस वालंटियर ने गाँव तंदवाली में जाकर अपने नुक्कड़ नाटक के माध्मय से गांववासियो को नशा ना करने का संदेश दिया क्योंकि नशा ना केलव हमारे लिए  हानिकारक  अपितु साथ में हमारे आस पास के लोगो पर भी इसका असर पड़ता है इसलिए हमें खुद भी नशे से सुरक्षित रहना चाहिए और दूसरों को भी सुरक्षित रखना चाहिए इसके साथ ही ग्रामीण महिलाओं को कॉलेज छात्राओं ने बताया कि किस प्रकार वेस्ट मेटेरियल से इस्तेमाल करने वाली चीज को बनाया जा सकता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*