नियमित नशा मुक्ति अभियान चलाएं : श्री बृजेश चौहन

नियमित नशा मुक्ति अभियान चलाएं : श्री बृजेश चौहन

29 दिसंबर को मध्य प्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य श्री बृजेश चौहान द्वारा नशे में लिप्त बालकों के पुनर्वास एवं उनके संरक्षण हेतु गेस्ट हाउस इटारसी में 11:00 बजे से संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की गई l बैठक में एसडीएम इटारसी एम एस रघुवंशी ,बाल कल्याण समिति होशंगाबाद अध्यक्ष ममता घाटोल एवं सदस्य ,किशोर न्याय बोर्ड सदस्य स्वेता चौबे थाना प्रभारी इटारसी रामस्नेही चौहान, जीआरपी थाना प्रभारी देवेंद्र कुमार, आरपीएफ प्रभारी, स्टेशन प्रबंधक डी एस चौहान ,विकासखंड स्त्रोत समन्वयक ,जिला कार्यक्रम अधिकारी ललित कुमार डेहरिया ,परियोजना अधिकारी योगेश घागरे, श्रम अधिकारी वर्षा इरपाचे, सीएमओ इटारसी,स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, रेलवे चाइल्ड लाइन के सदस्य उपस्थित रहे । बैठक में इटारसी प्लेटफार्म एवं बस स्टैंड क्षेत्र में नशे में लिप्त परिवारों एवं उनके बच्चों के संरक्षण एवं पुनर्वास के संबंध में सभी संबंधित अधिकारियों को दल बनाकर नियमित रूप से नशा मुक्ति अभियान चलाने के निर्देश दिए।
इस हेतु प्लेटफार्म के बाहर शहरी क्षेत्र में नशे में लिप्त बालकों के संरक्षण एवं पुनर्वास हेतु एसडीएम इटारसी के निर्देशन में एक दल कार्य करेगा एवं इटारसी रेलवे प्लेटफार्म के अंदर स्टेशन प्रबंधक के निर्देशन में जीआरपी, आरपीएफ ,रेलवे चाइल्ड लाइन मिलकर एक दल प्लेटफार्म पर पाए जाने वाले बच्चों के संरक्षण एवं पुनर्वास के लिए कार्य करेगा। माननीय सदस्य महोदय द्वारा थाना प्रभारी इटारसी को इन बच्चों को
सिलोचन, वाइटनर जैसे नशीले पदार्थ उपलब्ध कराने वालों के खिलाफ भी किशोर न्याय अधिनियम की धारा 77 के तहत f.i.r. करने के निर्देश दिए।
ओझा बस्ती इटारसी में वर्ष 2017 से झुग्गी बस्ती के लिए स्कूल खोला जाना प्रस्तावित है , इस हेतु शिक्षा विभाग से राशि भी जारी कर दी गई है अतः सीएमओ इटारसी को जनवरी 2022 तक स्कूल निर्माण कार्य आरंभ करने के निर्देश दिए गए।
श्री चौहन द्वारा जीआरपी ,आरपीएफ ,बाल कल्याण समिति ,महिला बाल विकास ,रेलवे स्टेशन प्रबंधक स्टाफ के साथ रेलवे स्टेशन परिसर एवं आसपास के क्षेत्रों में नशे में लिप्त बालकों के संरक्षण एवं पुनर्वास हेतु अभियान भी चलाया गया तथा प्लेटफार्म पर नशा कर घूमने वाले जिन परिवारों के साथ बच्चे पाए गए उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया तथा परिवारों को जीआरपी को सौंपा तथा निर्देश दिए कि इन लोगों की जांच के बाद ही इन्हें छोड़ा जावे और किसी प्रकार से भी नशे में लिप्त यह लोग बालकों के संपर्क में ना आए , ना ही बालकों को नशे की लत लगा सके। नशे में लिप्त बच्चों को रेस्क्यू कर चाइल्ड लाइन को सुपुर्द किया गया , बच्चों की काउंसलिंग कर बच्चों को नशीले पदार्थ देने वालों के खिलाफ एफ आई आर कराने हेतु बाल कल्याण समिति को निर्देशित किया।

इटारसी रेलवे परिसर क्षेत्र में सघन जांच अभियान के पश्चात माननीय सदस्य महोदय द्वारा एनआरसी इटारसी,मुस्कान बालिका गृह तथा जीवोदय बालक गृह तथा पवारखेड़ा स्थित खुला आश्रय गृह का निरीक्षण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*