प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजनांतर्गत ड्रिप, मिनी स्प्रिंकलर एवं पोर्टेबल स्प्रिंकलर के लिए आवेदन

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजनांतर्गत ड्रिप, मिनी स्प्रिंकलर एवं पोर्टेबल स्प्रिंकलर के लिए आवेदन

होशंगाबाद/20,जनवरी,2022/प्रधानमंत्री कृषि सिंचाईं योजना के घटक -पर ड्रॉप मोर क्रॉप- (माइक्रो इरीगेशन) योजनांतर्गत वर्ष 2021-22 के लिए उद्यान विभाग में ड्रिप, मिनी स्प्रिंकलर एवं पोर्टेबल स्प्रिंकलर के लिए सामान्य, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लक्ष्य प्राप्त हुए हैं।

उप संचालक उद्यानिकी होशंगाबाद ने बताया कि ड्रिप के लिए जिले को अजजा के लिए 5 हेक्टेयर आदर्श विकासखंड होशंगाबाद मे 15 हेक्टेयर एवं अजा के लिए 7 हेक्टेयर आदर्श विकासखंड होशंगाबाद 18 है.सामान्य 7 एवं 64.30 हे० का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। मिनी स्प्रिंकलर के लिए सामान्य के लिए 83 हेक्टेयर आदर्श विकासखंड होशंगाबाद 133 हे., अजजा के लिए 21 हेक्टेयर आदर्श विकासखंड होशंगाबाद 31 हे.एवं अजा हेतु 7 हेक्टेयर आदर्श विकासखंड होशंगाबाद 31 हे का लक्ष्य प्राप्त हुआ है एवं पोर्टेबल स्प्रिंकलर के लिए अजा हेतु 19 हेक्टेयर, अजजा 104 हे. आदर्श विकासखंड होशंगाबाद 30 हे० का लक्ष्य प्राप्त हुआ है।

कृषकों को योजना में लाभ लेने हेतु उद्यान विभाग के पंजीयन पोर्टल एमपीएफएसटीएस पर पंजीयन एवं आवेदन करना अनिवार्य होगा। योजना में कुल लागत का 55 प्रतिशत एवं 45 प्रतिशत अनुदान देय होगा। योजना के संबंध में अधिक जानकारी के लिए कृषक उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के जिला कार्यालय एवं विकासखंड कार्यालयीन समय में सम्पर्क कर सकते हैं।

000

ई-शपथ लेकर जिन्दगी को हाँ और नशे को ना कहें

होशंगाबाद/20,जनवरी,2022/नशीली दवाओं के सेवन की रोकथाम को जनान्दोलन बनाने के लिए देश और प्रदेश में ‘Say Yes to Life, No To Drugs’ (‘‘जिन्दगी को हाँ और नशे को ना कहें) ई-शपथ कार्यक्रम क्रियान्वित किया जा रहा है। कार्यक्रम का उद्देश्य जन-जन को नशीली दवाओं के दुष्प्रभावों के विरूद्ध जागरूक करना है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय के नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा ई-शपथ लेने पर प्रमाण-पत्र भी जारी किया जाएगा

ऑनलाइन शपथ शासन द्वारा ई-शपथ के लिए वेबसाइट mygov.in पर लिंक http:@@pledge.mygov.in/fightagainstdrugabuse/ जारी की गई है। सामाजिक न्याय एवं निरूशक्तजन कल्याण विभाग द्वारा सभी कलेक्टरों और मुख्य कार्यपालन अधिकारी (जिला पंचायत) को जारी किए गए पत्र में युवाओं और समाज के सभी वर्गों के लोगों को अपने मोबाइल से ई-शपथ लेने के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए गए हैं।

000

मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना के तहत कर सकते हैं आवेदन

होशंगाबाद/20,जनवरी,2022/मध्यप्रदेश शासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक ग्राम पंचायत क्षेत्र में आबादी क्षेत्र की भूमि पर पात्र परिवारों को आवासीय भू-खण्ड उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना प्रारंभ की जा रही है। योजना के तहत प्राप्त आवेदन तथा स्वीकृत प्रकरणों की ऑनलाईन मॉनीटरिंग एवं कार्य की प्रगति की समीक्षा प्रमुख राजस्व आयुक्त द्वारा की जाएगी। SAARA पोर्टल पर प्राप्त आवेदनों की सूची तहसीलदार आईडी से देखी जा सकती है। योजना के तहत ऐसे आवेदक परिवार जिनके पास स्वतंत्र रूप से रहने के लिए आवास है तथा पॉच एकड़ से अधिक भूमि है, उन्हें योजना का लाभ नहीं मिलेगा। इसके अतिरिक्त आवेदक परिवार सार्वजनिक वितरण प्रणाली पीडीएस दुकान से राशन प्राप्त करने के लिए पात्रता पर्ची धारित नहीं करता है।

आवेदक परिवार का कोई भी सदस्य आयकर दाता है या आवेदक परिवार का कोई भी सदस्य शासकीय सेवा में है तो उसे योजना का लाभ नहीं मिलेगा। आवेदक को मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना के तहत आवासीय भू-खण्ड प्राप्त करने के लिए ऑनलाईन SAARA पोर्टल के माध्यम से निर्धारित प्रारूप में आवेदन प्रस्तुत करना होगा।

000

‘‘प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना’ का लाभ उठाएं श्रमिक*

प्रतिदिन 2 रू. से भी कम जमा करें तो 60 साल की आयु के बाद 3000 रू. महिने पेंशन मिलेगी

होशंगाबाद/20,जनवरी,2022/असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को बुढापे में वित्तीय सुरक्षा देने के लिए सरकार ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना शुरू की है। इसके तहत सरकार 15 हज़ार रूपए से कम आय वाले मजदूरों को 60 साल की उम्र के बाद 3000 रूपए प्रति माह की पेंशन देगी। इस योजना के तहत हर महिना मात्र 55 रूपए निवेश करके अपने लिए 3 हजार रूपए की प्रति महीने पेंशन का इंतज़ाम कर सकते है। योजना के तहत जितनी राशी श्रमिक जमा कराएगा, उतनी ही राशी सरकार उसमे मिलाएगी। यानी अगर आप 100 रूपए जमा कराएंगे, तो सरकार भी इसमें 100 रूपए मिलाएगी।

श्रम पदाधिकारी, होशंगाबाद श्रीमती वर्षा इरपाचे ने बताया कि भारत सरकार श्रम मंत्रालय ने असंगठित श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए योजना लागू की है। यह योजना असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के लिए है। इनमे घर में काम करने वाले, रेहड़ी लगाने वाले दुकानदार, ड्राईवर, प्लम्बर, दर्जी, मिड-डे मील वर्कर, रिक्शा चालक, निर्माण कार्य करने वाले मजदूर, कूड़ा बीनने वाले, बीडी बनाने वाले, हाथकरघा, कृषि कामगार, मोची, धोबी, चमड़ा कामगार को शामिल किया गया है। योजना के लिए असंगठित क्षेत्र के मजदूर की इनकम 15 हजार रूपए से अधिक नहीं होनी चाहिए। बचत खाता या फिर जन-धन खाता एवं आधार नंबर होना चाहिए। उम्र 18 साल से कम और 40 साल से अधिक नहीं होना चाहिए। आवेदक द्वारा पूर्व से केंद्र सरकार की किसी अन्य पेंशन स्कीम का लाभ नहीं लिया गया हो।

कियोस्क सेंटर पर जाकर करवा सकते हैं पंजीयन

योजना का संचालन जीवन बीमा निगम द्वारा किया जा रहा है। कोई भी इच्छुक श्रमिक अपने निकटतम कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर आधार कार्ड एवं बैंक खाता क्रमांक ले जाकर अपना नामांकन करा सकते है। प्रीमियम की प्रथम किश्त श्रमिक की आयु वर्ग अनुसार 55 से 200 रूपए कॉमन सर्विस सेंटर पर जमा कर नामांकन कराना होगा। आगामी माहों में प्रीमियम की किश्त श्रमिक के बैंक खाते से स्वतः ही डेबिट हो जाएगी। मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत द्वारा जिले में पदस्थ विभाग प्रमुखों को असंगठित श्रमिकों को योजना का लाभ दिलाने के लिए प्रोत्साहित कर कॉमन सर्विस सेंटर पर अधिक से अधिक पंजीयन कराने की कार्यवाही के निर्देश दिए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*