जल संरक्षण के लिए जुटे श्रमिक

खरगोन। यह चित्र इस चिलचिलाती धूप में राहत जैसा लगता है। ये वो मजदूर है जो मनरेगा योजना के तहत कसरावद जनपद के रंगोन और समेढ़ा गांव में लघु तलाई बनाने में जुटे है। निश्चित तौर पर बारिश होने से पहले जल संरक्षित करने की जुगाड़ हो जाये तो गर्मी जब भी आये प्यासे और सूखे कंठो को जरूर राहत मिलेगी। कसरावद सीईओ श्री मोहन वास्कले ने जानकारी देते हुए बताया कि अभी रंगोन के किसान भगवान के खेत के पास और समेढ़ा के किसान मंगल के खेत के पास लघु तलाई का काम चल है। रंगोन में 4.99 लाख रुपये की लागत वाली तलाई में 50 श्रमिक और समेढ़ा में 4.99 लाख रूपये की लागत की तलाई बनने में 99 मजदूर कार्य में जुटे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*