ग्राम देवलामाफी में बाल विवाह रोके जाने हेतु दी गई समझाईश

परियोजना छैगांवामाखन अन्तर्गत ग्राम देवलामाफी में बाल विवाह होने के संबंध में सूचना प्राप्त हुई, जिस पर प्रभारी परियोजना अधिकारी श्रीमति रेखा पटेल द्वारा तत्काल विभागीय अमला पर्यवेक्षक, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व कार्यालयीन स्टॉफ द्वारा जाकर मौके पर उपस्थित हुए। ग्राम के दो घरों में बाल विवाह होने संबंधी सूचना के आधार पर पूर्णतः वस्तुस्थिति को संज्ञान मंे लेकर जॉच की गई, जिसमें पाया गया कि ग्राम देवलामाफी के गिरधारी अटूट की दो बेटियों का विवाह किया जा रहा है। बाल विवाह रोको अभियान टीम द्वारा जांच करने पर पाया गया कि बड़ी बेटी जिसका कि जन्म दिनांक अंकसूची के आधार पर 15 अप्रैल 2004 है के अनुसार वह बालिग है। लेकिन छोटी बेटी जिसका जन्म दिनांक 15 नवम्बर 2008 पायी गयी वह नाबालिग है। समझाईश देने पर श्री गिरधारी अटूट एवं परिवार ने छोटी बेटी का विवाह नहीं करने का फैसला लिया, जिसका लिखित पंचनामा बनाया गया है। उसी प्रकार ग्राम के ही ईश्वर चौहान की दोनों बेटियां जो कि नाबालिग है, उन्हें भी बाल विवाह करने से रोका गया। उनकी पत्नी श्रीमति धनबाई द्वारा लिखित पंचनामा विवाह नहीं करने हेतु दिया गया। इस दौरान पर्यवेक्षक श्रीमति ज्योति पाटिल, श्रीमति संगीता पाल पर्यवेक्षक, श्रीमति संगीता खेड़ेकर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं श्रीमति प्रमिला मोहे आंगनवाड़ी सहायिका उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*