विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर मलेरिया जन जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर मलेरिया जन जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया
राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण अन्तर्गत विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर सोमवार को मलेरिया की रोकथाम, बचाव एवं नियंत्रण के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय परिसर खंडवा से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. डी. एस. चौहान ने मलेरिया जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान जिला मलेरिया अधिकारी श्री करणसिंह भूरिया एवं अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे। इस वर्ष विष्व मलेरिया दिवस की थीम ‘‘भारत में मलेरिया उन्मुलन के लिए नवाचार‘‘ है। मलेरिया जन जागरूकता रथ के माध्यम से शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण कर माईकिंग के द्वारा मलेरिया के लक्षण, जांच व नियंत्रण के प्रति आमजन को जागरूक करने का कार्य करेगा। भ्रमण के दौरान पम्पलेट भी वितरित कर व्यापक प्रचार-प्रसार किया जायेगा। जिला मलेरिया अधिकारी श्री करणसिंह भूरिया ने बताया कि 18 से 25 अप्रैल के मध्य आयोजित खंड स्तरीय स्वास्थ्य मेलों में प्रदर्षनी लगाई गई, जिसमें लार्वाभक्षी गम्बूसिया मछली एवं मच्छर के लार्वा का प्रदर्षन किया गया व मेले में बुखार पीड़ित मरीजों की जांच की गई। विष्व मलेरिया दिवस पर सरस्वती शिशु मंदिर वैकुण्ठ नगर में स्कूल हेल्थ गतिविधियों अंतर्गत जिला मलेरिया अधिकारी श्री भूरिया ने मलेरिया से संबंधित जानकारी छात्रों को दी। जिला मलेरिया अधिकारी श्री भूरिया ने बताया कि तेज बुखार, सिर दर्द, उल्टी, जोडो एवं मासंपेशियों में दर्द होना मलेरिया के लक्षण है। उन्होंने बताया कि मलेरिया होने पर खून की जांच तुरंत करायें तथा सरकारी अस्पताल में निःशुल्क इलाज लें। मलेरिया से बचाव के लिए छत एवं घर के आस-पास पानी जमा न होने दें। सप्ताह में एक बार पानी के बर्तन, टंकियो, कूलरों आदि को साफ करें। दिन के समय पूरी आस्तिन के कपड़े पहने। लार्वा और मच्छरों को पनपने से रोके और मलेरिया से सुरक्षित रहे। बुखार आने पर तुरंत खून की जांच कराये। जांच में मलेरिया पाये जाने पर पूरा इलाज लें। मलेरिया की जांच एवं उपचार की सुविधा सभी सरकारी अस्पतालों में निःशुल्क उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*