मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना जनपद के निर्धन परिवारों की बेटियों की शादी के लिए बनी वरदान

कौशाम्बी, 25.04.2022
मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना जनपद के निर्धन परिवारों की बेटियों की शादी के लिए बनी वरदान

जनपद में अब तक 3515 निर्धन परिवारों की बेटियों की शादी सम्पन्न करायी जा चुकी हैं।

मुख्यमंत्री सामूहिक योजना उ0प्र0 सरकार की महत्वॉकाक्षी योजना है। इसके तहत निर्धन परिवारों की बेटियों की शादी की जाती है। इस योजना में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक, अन्य पिछड़ा वर्ग के साथ ही सामान्य वर्ग के निर्धन परिवार भी आवेदन कर सकतें हैं। योजना का लाभ विधवा और तलाकशुदा भी उठा सकतें हैं। योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि जिन परिवारों में लड़कियां होती हैं वो बेटियों को बोझ न समझें, शादी का सारा खर्च प्रदेश सरकार द्वारा वहन किया जाता है।
जनपद कौशाम्बी में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2017-18 में कुल 300 जोड़ों का विवाह सम्पन्न कराया गया था। इसी प्रकार वित्तीय वर्ष 2018-19 में 1254, वर्ष 2019-20 में 794, वर्ष 2020-21 में 332 तथा वर्ष 2021-22 में 835, अब तक कुल 3515 जोड़ो का सामूहिक विवाह सम्पन्न कराया जा चुका है। इस योजना हेतु परिवार की वार्षिक आय अधिकतम रू0 02 लाख एवं लड़की की आयु 18 वर्ष व लड़के की आयु 21 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। यह योजना उत्तर प्रदेश के निवासियों हेतु संचालित है।
मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत कन्या के दाम्पत्य जीवन में खुशहाली एवं गृहस्थी की स्थापना हेतु कन्या के बैंक खाते में रू0-35 हजार की धनराशि हस्तान्तरित की जाती है एवं विवाह संस्कार के लिए आवश्यक सामग्री (कपड़े, बिछिया, पायल, बर्तन आदि) हेतु रू0-10 हजार की सहायता तथा रु0 06 हजार प्रत्येक जोड़े के विवाह आयोजन पर व्यय किए जाने की व्यवस्था की गयी है। इस प्रकार योजनान्तर्गत एक जोड़े के विवाह पर कुल रु0 51 हजार की धनराशि खर्च करने की व्यवस्था है। इच्छुक लाभार्थी वेबसाइट-ेंकपंदनकंदण् नचेकबण्हवअण्पद पर आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर मॉगे गये सभी दस्तावेजों को संलग्न करके पूर्ण रूप से भरे हुए फॉर्म को ग्राम पंचायत/नगर पंचायत/नगर पालिका परिषद अथवा जिला मुख्यालय पर जिला समाज कल्याण अधिकारी के कार्यालय में जमा कर सकतें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*