थैलेसीमिया दिवस के अवसर पर जिला चिकित्सालय में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर सम्पन्न

थैलेसीमिया दिवस के अवसर पर जिला चिकित्सालय में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर सम्पन्न
कलेक्टर एवं रेड क्रॉस सोसायटी के अध्यक्ष श्री अनूप कुमार सिंह के निर्देशन में विश्व रेडक्रास सोसायटी के जनक सर हेनरी के जन्म दिवस एवं थैलेसीमिया दिवस के अवसर पर ब्लड बैंक जिला चिकित्सालय खंडवा में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में श्री नीलकंठेश्वर महाविद्यालय, कृषि महाविद्यालय के छात्र छात्राओं व अन्य लोगों द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान किया गया। इस दौरान सिविल सर्जन डॉ. ओ.पी. जुगतावत द्वारा कहा गया कि रक्तदान महादान है, इससे हम लोगों की जान बचा सकते है, इसीलिए हमें इस पुनीत कार्य के लिए दूसरों को भी प्रेरित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आमतौर पर लोग रक्तदान के लिए डरते हैं, क्योंकि उनको लगता है कि शरीर कमजोर हो जाएगा यह सब भ्रांतियां है। उन्होंने बताया कि हर स्वस्थ व्यक्ति 3-3 माह में स्वैच्छिक रक्तदान कर सकता है। इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ. जुगतावत ने बताया कि थैलेसीमिया की बीमारी जो कि एक अनुवांशिक बीमारी है, जो एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में प्रवाहित होती है। इस बीमारी से कमजोरी, थकान, पीलापन एवं शरीर का विकास धीमी गति से होता है और बार-बार खून की कमी होने के कारण खून चढ़ाना पड़ता है, इसीलिए इस तरह के लक्षण होने पर चिकित्सक से परामर्श लेने की सलाह दी गई। इस अवसर पर पैथोलॉजिस्ट डॉ. अतुल माने द्वारा बताया गया कि आज कुल 21 लोगों ने ब्लड डोनेट किया, जिन्हें प्रमाण पत्र वितरण किए गए। इस अवसर पर डॉ. संदीप सिंह पैथोलॉजिस्ट, एस.एन. कॉलेज की डॉ. शकुन मिश्रा रेड क्रॉस सोसाइटी की नोडल अधिकारी, कृषि महाविद्यालय के डॉ. एस.के. अर्शिया, नुसरत जहां लैबटेक्नीशियन, पूजा रायकवार काउंसलर, सारंग सोनवाने लेब अटेंडर सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*