अपराधियों को करें नेस्तनाबूद – मुख्यमंत्री श्री चौहान

अपराधियों को करें नेस्तनाबूद – मुख्यमंत्री श्री चौहान
पुलिस का कार्य जनता के लिये शांति पूर्ण व्यवस्था सुनिश्चित करना कानून-व्यवस्था और जन-कल्याण हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण आगामी सप्ताह पूरे राज्य में जन-कल्याण के कार्यक्रमों की श्रृंखला मिशन नगरोदय 17 मई को होगा प्रारंभ मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सुबह-सवेरे बुलाई बैठक

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कानून-व्यवस्था और जन-कल्याण सबसे महत्वपूर्ण हैं। यह सरकार की प्राथमिकता है। वीडियो कान्फ्रेंस द्वारा प्रदेश के सभी कमिश्नर्स और पुलिस महानिरीक्षकों से संवाद करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रत्येक जिले में पूरे समन्वय के साथ प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी जनता के कल्याण के कार्यों को सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज प्रातः निवास पर आयोजित बैठक में कानून-व्यवस्था से चर्चा प्रारंभ की। उन्होंने कहा मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता कानून-व्यवस्था है। पुलिस का कार्य है कि सभी नागरिकों के लिए शांति से जीने की व्यवस्था करें। सतना कलेक्ट्रेट के एनआईसी कक्ष में कलेक्टर अनुराग वर्मा, पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह, आयुक्त नगर निगम तन्वी हुड्डा, सीईओ जिला पंचायत डॉ परीक्षित राव, अपर कलेक्टर राजेश शाही, अधीक्षण यंत्री विद्युत जीडी त्रिपाठी, कार्यपालन यंत्री पीएचई रावेन्द्र सिंह एवं जल निगम के अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अपराधियों को नेस्तनाबूद किया जाए। कोई भी माफिया पनपना नहीं चाहिए। प्रदेश में हजारों एकड़ भूमि माफियाओं से मुक्त करवाई गई हैं। इस भूमि के उपयोग की योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि शिकार करने और अवैध शराब का कारोबार करने वालों को क्रश किया जाए। उन्होंने कहा कि आज प्रातः बुलाई गई इस बैठक को एक नए उजाले के रूप में अंगीकार कर अधिकारी सार्थक भूमिका का निर्वहन करें। योग, ध्यान और शारीरिक व्यायाम, सुबह की सैर के साथ स्वस्थ रहते हुए आमजन के हित में सक्रिय रूप से सभी कार्य करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मेरा मुख्यमंत्री होना और आपका पद पर होना तभी सार्थक है जब हम जनसेवा पर पूरा ध्यान दें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गुना की घटना से मैं बहुत बेचैन हूँ। मेरा संकल्प है, किसी भी अपराधी को छोड़ा नहीं जाएगा। गुना के प्रकरण में अपराधियों के विरुद्ध ऐसी सख्त कार्रवाई होगी जो इतिहास में दर्ज होगी। शिकार करने और अन्य अपराधों को अंजाम देने वालों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई हो। इसके लिए पुलिस महानिदेशक से लेकर थाना स्तर तक निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पुलिस विभाग में निरंतर समीक्षा का कार्य हो। अपराधियों को चिन्हित किया जाये। ऐसा प्रयास हो कि अपराध घटित ही न हों।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कुछ जिलों में पुलिस द्वारा अच्छी कार्रवाई हुई है। इसके लिए संबंधित अधिकारी और स्टाफ बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि हमेशा क्विक एक्शन होना चाहिए। अपराधों को प्रभावी ढंग से रोकने की व्यवस्था हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिलाओं के प्रति अपराधों पर भी नजर रखें। प्रत्येक जिले में नियमित रूप से कार्य विश्लेषण किया जाए। अपराध नियंत्रण की शीघ्र ही पुनः समीक्षा की जाएगी।

पेयजल प्रबंध और विद्युत आपूर्ति

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में आम जनता के लिए पर्याप्त पीने के पानी की व्यवस्था हो। कलेक्टर समन्वय की भूमिका निभाएँ। किसी भी क्षेत्र में पेयजल की समस्या न हो। नल-जल योजनाओं के संचालन में कोई तकनीकी दिक्कत हो तो, तत्काल व्यवस्था सुधारी जाए। हैंडपंप बिगड़े हो तो उन्हें भी ठीक करवाया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विकासखंड स्तर पर टीम गठित है। यदि पेयजल योजनाओं में पानी काफी नीचे चला गया है, तो राईजिंग पाइप के उपयोग से समाधान किया जाए। पेयजल योजनाओं के लिए विद्युत प्रदाय की दिक्कत नहीं होना चाहिए। निश्चित शेड्यूल के अनुसार जल प्रदाय किया जाए। इस व्यवस्था का प्रचार-प्रसार भी किया जाए। शिकायतें दर्ज करने के लिए कार्यालयों में रजिस्टर की व्यवस्था की गई है। सीएम हेल्प लाइन की शिकायतों को भी गंभीरता से लिया जाए। मैदानी अमले को सजग बनाया जाए। ग्रामीण विकास, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और ऊर्जा विभाग के अमले में समन्वय भी बढ़ाया जाए। सभी आवश्यक उपायों को अपनाया जाए। स्थानीय जल-स्रोत कारगर न हो तो टैंकर से जलापूर्ति की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिना बाधा विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। भोपाल से चौपाल तक सभी टीम के रूप में कार्य करें।

जन-कल्याण के कार्यक्रमों की श्रृंखला

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 16 मई को संबल योजना के हितग्राहियों को राशि का वितरण किया जाएगा। प्रदेश के लिए मिशन नगरोदय बहुत महत्वपूर्ण है। अनेक योजनाओं में हितग्राही लाभान्वित किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मिशन नगरोदय 17 मई को प्रारंभ हो रहा है। करीब 20 हजार 753 करोड़ रूपये से कार्य प्रारंभ हो रहे हैं। ये कार्य नगरों की तस्वीर बदलने का कार्य करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर्स और नगरीय विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मिशन नगरोदय के व्यवस्थित आयोजन सुनिश्चित करें। प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य योजनाओं के लिए हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा। प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के हितग्राहियों को गृह प्रवेश करवाया जाएगा। करीब 12 हजार करोड़ रूपये के हितलाभ हितग्राहियों को प्राप्त होंगे। जिलों के प्रभारी मंत्री कार्यक्रमों में उपस्थित रहेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रीष्म काल को देखते हुए मिशन नगरोदय के कार्यक्रम स्थलों पर पेयजल की व्यवस्था हो। अमृत योजना-2, स्वच्छ भारत-2, स्ट्रीट वेंडर्स के कल्याण से जुड़े कार्यक्रमों को जन-प्रतिनिधियों की उपस्थिति में किया जाए। प्रदेश के 413 नगरीय निकायों में कार्यक्रम होंगे। हितग्राहियों को 120 करोड़ रूपये ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा। 600 से अधिक नये मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक की शुरुआत भी होगी। प्रभारी मंत्री जिलों में उपस्थित रहेंगे। विभिन्न स्वैच्छिक संगठनों का सहयोग प्राप्त किया जाए। कार्यक्रमों का लाइव प्रसारण दूरदर्शन और वेबकॉस्ट से किया जाएगा। जनता की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित की जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि राज्य स्तर पर 17 मई को स्कूली विद्यार्थियों को मूंग दाल वितरण का कार्य किया जाएगा। प्राथमिक कक्षाओं के विद्यार्थियों को 10 किलो, मिडिल और अन्य कक्षाओं के विद्यार्थियों को 15 किलो का वितरण किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बेटा-बेटियों को आगे भी मूंग दाल का प्रदाय राशन की दुकानों से किया जाए। इस कार्य में कोई गड़बड़ी नहीं होना चाहिए। दोषियों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।

किसान-कल्याण योजना में 18 मई को 1650 करोड़ की राशि का अंतरण हितग्राहियों के खाते में किया जायेगा। इस कार्यक्रम में स्थानीय जन-प्रतिनिधियों के संबोधन के बाद मुख्यमंत्री का संबोधन होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान रीवा से इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। प्रदेश के लगभग 82 लाख किसानों को कार्यक्रम से जोड़ने के लिए स्थानीय प्रशासन आवश्यक प्रयास करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 19 मई को मुख्यमंत्री नगरीय भू-अधिकार योजना में प्रमाण-पत्रों के वितरण का कार्य किया जाएगा। इसी तरह 20 मई को कायाकल्प अवार्ड से संबंधित कार्यक्रम होंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अमृत सरोवर के कार्य गति के साथ किए जाएँ। आजादी के अमृत महोत्सव में अमृत सरोवर का विकास ग्राम के लिए उदाहरण होना चाहिए। इन सरोवरों को पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र भी बना सकते हैं। साथ ही अमृत सरोवर प्रेरणा और देश भक्ति का स्थल बने, ऐसे प्रयास किए जाये। कलेक्टर्स और कमिश्नर्स के साथ सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारी योजनाओं की सतत समीक्षा करें। बैठक में आजीविका मिशन, मनरेगा और अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन पर भी चर्चा हुई।

पुलिस महानिदेशक श्री सुधीर कुमार सक्सेना, प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री मनीष सिंह, प्रमुख सचिव जनसंपर्क श्री राघवेन्द्र कुमार सिंह, आयुक्त नगरीय विकास श्री निकुंज श्रीवास्तव और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

महत्वपूर्ण जन-कल्याण कार्यक्रम-एक नजर में

16 मई को संबल योजना के हितग्राहियों को 600 करोड़ की राशि का वितरण किया जाएगा।
17 मई को प्रधानमंत्री आवास में शहरी हितग्राहियों को गृह प्रवेश करवाया जाएगा। करीब 600 करोड़ की राशि के साथ अन्य योजनाओं में 12 हजार करोड़ रूपए हितग्राहियों को प्रदान किए जाएंगे। प्रभारी मंत्री अपने जिलों में रहेंगे।
17 मई को विद्यार्थियों को मूंग दाल का वितरण किया जाएगा। यह कार्यक्रम प्रारंभ होने के बाद आगामी वितरण राशन की दुकानों से होगा।
18 मई को मुख्यमंत्री किसान-कल्याण योजना की 1650 करोड़ राशि का हस्तांतरण किया जाएगा।
19 मई को मुख्यमंत्री नगरीय भू-अधिकार योजना में प्रमाण-पत्रों का वितरण किया जाएगा।
20 मई को कायाकल्प अवार्ड से संबंधित कार्यक्रम होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*