185879 किसानों को प्रथम और 10290 किसानों के खातें में द्वितीय किस्त मुख्यमन्त्री ने भेजी 2-2 हजार रुपये की राशि 42207 किसानों को मिला स्वामित्व अधिकार

185879 किसानों को प्रथम और 10290 किसानों के खातें में द्वितीय किस्त मुख्यमन्त्री ने भेजी 2-2 हजार रुपये की राशि
42207 किसानों को मिला स्वामित्व अधिकार

खरगोन। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को रीवा से खरगोन जिले के 185879 किसानों के बैंक खातें में किसान कल्याण योजना 2022-23 के तहत 2-2 हजार रुपये की राशि भेजी है। इसके साथ ही वर्ष 2021-22 के बचे हुए 10290 किसानों को द्वितीय क़िस्त की 2-2 हजार रुपये की क़िस्त भी भेजी है। इस तरह मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख़्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंतर्गत जिले के 196169 किसानों के खातें में 3923.38 लाख रुपये रीवा में आयोजित कार्यक्रम के माध्यम से ऑनलाइन अंतरित किये है। इस कार्यक्रम को खरगोन स्थित कृषि मंडी में भी वर्चुअली रूप में देखा व सुना गया। इसी कार्यक्रम के माध्यम से मुख़्यमंत्री श्री चौहान ने स्वामित्व योजना के तहत 42207 हितग्राहियो को उनके आबादी के अधिकार अभिलेख भी प्रदान किये गए। अब इन हितग्राहियो को मालिकाना हक मिल गया है। जिससे क्रय-विक्रय करने में न सिर्फ सहूलियत होगी बल्कि बैंक ऋण प्राप्त होने में भी सुविधा होगी। मंडी में आयोजित कार्यक्रम के माध्यम से मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित पूर्व विधायक श्री बाबूलाल महाजन, श्री कल्याण अग्रवाल, विधायक प्रतिनिधि श्री महेश पाटीदार, श्री मयाराम पाटीदार, श्री प्रकाश भावसार, अपर कलेक्टर श्री एसएस मुजाल्दा, भू अभिलेख अधिकारी श्री पवन वास्कले, खाद्य अधिकारी श्री मनोहर सिंह ठाकुर ने सांकेतिक रूप से किसान कल्याण योजना के स्वीकृति पत्र गोपालपुरा के मोहब्बत रणछोड़, मनोज तेजा, दिनेश हीरालाल और मोहना के आशाराम, सीताराम व अमरसिंह, बोन्दरसिंह को प्रदान किये गए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री पौषण शक्ति निर्माण अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र के प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों को मंूग वितरण भी किया। सांकेतिक रूप से मुख्य अतिथियों ने रहीमपुरा प्राथमिक विद्यालय की मिनाक्षी, खुशी, अंकिता, खुशी अमर, निहारीका को 10-10 किलोग्राम के मूंग के बैग एवं माध्यमिक विद्यालय के गोरेलाल, रूपेश, लक्की, महेन्द्र, हीरालाल, अदनान को 15-15 किलोग्राम के मुंग के बैग वितरित किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*