अलग बनेगा अपना क्षेत्र और अलग बनेगा मध्यप्रदेश – मुख्यमंत्री श्री चौहान

अलग बनेगा अपना क्षेत्र और अलग बनेगा मध्यप्रदेश – मुख्यमंत्री श्री चौहान
जहाँ समरसता होती है वहाँ विकास कोई नही रोक सकता- मुख्यमंत्री श्री चौहान गांवों को आदर्श बनाने के लिए संकल्पित है प्रदेश सरकार कोई भी गरीब बिना पक्के मकान के नही रहेगा आंगनबाड़ियों के लिए किसानों से यथाशक्ति अनाज और समाज के अन्य वर्गों से उपयोगी सामग्री देने का मुख्यमंत्री ने किया आव्हान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सलकनपुर में 44 करोड़ के निर्माण एवं विकास कार्यों का किया भूमिपूजन बुधनी विधानसभा के 3852 हितग्राहियों को वितरित किए प्रधानमंत्री आवास स्वीकृति पत्र

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्रामीणों और नागरिको का आव्हान किया है कि आगामी पंचायत और नगरीय चुनावो में निर्विरोध प्रतिनिधि चुनकर समरस क्षेत्र बनाएं और ऐसे क्षेत्र में विकास के साथ केंद्र और राज्य की हितग्राही मूलक योजनाओं को शत-प्रतिशत लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वे स्वयं ऐसे क्षेत्रों में जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान सोमवार को सलकनपुर में विजयासन माता मंदिर के 44 करोड़ के विकास और निर्माण कार्यो का भूमिपूजन करने के बाद बृहद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास प्लस सर्वे के पात्र 3852 परिवारों को प्रतीकात्मक रूप से स्वीकृति पत्र भी प्रदान किये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गांवों और नगरों की समरसता पर ज़ोर देते हुए नया नारा दिया कि सभी संकल्प करें कि “अलग बनेगा अपना क्षेत्र और अलग बनेगा मध्यप्रदेश” मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में निर्विरोध निर्वाचन से प्रतिनिधि तय कर समरस क्षेत्र बनाइये, विकास की गारंटी मुख्यमंत्री की है। उन्होंने कहा कि झगड़ा और वैमनस्यता नही हो और जहाँ समरसता होती है वहाँ विकास कोई नही रोक सकता। उन्होंने कहा कि वे गांव को आदर्श बनाने के लिए संकल्पित है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आवास प्लस के हितग्राहियों से कहा कि अभी लगभग 12 हज़ार से अधिक और भी आवास स्वीकृत किये जायेंगे। वे किसी के झांसे में नही आये। उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिए कि भवन निर्माण सामग्री एक साथ खरीदे, जिससे गुणवत्तापूर्ण आवास बन सके। उन्होंने कहा कि सरकार गरीब की जिंन्दगी बदलने के लिए काम कर रही है और प्रशासन यह तय करे कि किसी तरह की गफलत नही हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोई भी गरीब बिना पक्के मकान के नही रहेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वे भोपाल में आंगनबाड़ी को सशक्त बनाने के लिए मंगलवार से हाथ ठेला लेकर खिलौने और बच्चो के लिए उपयोगी अन्य सामग्री एकत्रित करने नागरिको के बीच जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमे अपने क्षेत्र की आंगनबाड़ियों को स्वेच्छा से दान देकर बच्चो को कुपोषण मुक्त करना है। उन्होंने आंगनबाड़ियों के लिए किसानों से यथाशक्ति अनाज और समाज के अन्य वर्गों से उपयोगी सामग्री देने का आव्हान किया। उन्होंने मेधावी बच्चो को भी आगे बढ़ाने के लिए समाज का आव्हान किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वसहायता समूह और आजीविका मिशन की दीदियों की आमदनी 10 हज़ार रुपये प्रति माह करने के संकल्प को दोहराते हुए कहा कि बहनों को ट्रेनिंग देकर उनके उत्पादों को बेहतर बनाने के साथ मार्किट भी उपलब्ध करवाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए किसानों का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि सरकार गौमूत्र और गोबर के खाद द्वारा खेती के तरीके बताने के लिए ट्रेनिंग भी देगी और एक गाय पालने के लिए एक साल तक प्रतिमाह 900 रुपये भी दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि वे खुद प्राकृतिक खेती करेंगे और किसान भी प्रारम्भिक रूप से आधा एकड़ में प्राकृतिक खेती शुरू करे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रतिभाशाली बच्चो और खेलो में क्षेत्र का नाम रोशन करने वाले बच्चो को भी सम्मानित किया। कार्यक्रम को सांसद श्री भार्गव और सलकनपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री महेश उपाध्याय ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तथा जिले के प्रभारी प्रभारी मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी , पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, सांसद श्री रमाकांत भार्गव, श्री गुरूप्रसाद शर्मा, श्रीमती साधना सिंह, मध्य प्रदेश आदिवासी वित्त विकास निगम अध्यक्ष श्रीमती निर्मला बारेला, पूर्व विधायक श्री राजेंद्र सिंह राजपूत, जिला भाजपा अध्यक्ष श्री रवि मालवीय, सलकनपुर ट्रस्ट अध्यक्ष श्री महेश उपाध्याय, श्री रघुनाथ भाटी सहित अनेक जनप्रतिनिधि एवं हितग्राही उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सलकनपुर में सपत्नीक पूजा अर्चना की

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सपत्नीक सलकनपुर पहुंचकर देवीधाम सलकनपुर में दर्शन किए। इसके साथ ही उन्होंने देवी विजयासन की पूजा-अर्चना कर देश एवं प्रदेश की शांति औऱ सुख-समृद्धि की प्रार्थना की।

कोरकु समाज के कल्याण के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा-मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सलकनपुर में कोरकु समाज की धर्मशाला का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कोरकु समाज के लोग बहुत ही मेहनती और ईमानदार हैं। उनकी समाज मे अलग पहचान है। उन्होंने कहा कि कोरकु समाज के विकास और कल्याण के लिए हर संभव काम किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरकु समाज के बच्चों की पढ़ाई, रोजगार और तरक्की के अवसर उपलब्ध कराने का काम किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरकु समाज की धर्मशाला के निर्माण के लिए 04लाख रुपये की सहयोग राशि का चैक प्रदान किया। इस अवसर पर सांसद श्री रमाकांत भार्गव, पूर्व विधायक श्री राजेंद्र सिंह राजपूत, श्री बाबूलाल कलम, श्रीबाबूलाल मालवीय, श्रीपुरुषोत्तम, श्री नादान पटेल उपस्थित थे।

इन निर्माण एवं विकास कार्यों का किया शिलान्यास

मुख्यमंत्री श्री चौहान नेदेवीधाम सलकनपुर में आयोजित कार्यक्रम में 43 करोड़ 69 लाख 72 हजार रूपए के अनेक निर्माण एवं विकास कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 06 करोड़ 41 लाख रूपए की लागत से देवीधाम सलकनपुर में शिव मंदिर के समीप पार्किंग तथा शिव मंदिर के विभिन्न विकास कार्य, 16 करोड 99 लाख रूपए की लागत से मंदिर परिसर का विकास एवं सौन्दर्यीकरण तथा भोजशाला एवंसूर्य द्वार का नवीनीकरण, 11 करोड़ 55 लाख रूपए की लागत से मेला ग्राउण्ड का विकास, सिंह द्वार का विस्तार कार्य एवं सरोवर का सौन्दर्यीकरण कार्य तथा 08 करोड़ 74 रूपए की लागत से 125 नवीन दुकानों का निर्माण एवं 06 भव्य प्रवेश द्वारों के निर्माण एवं विकास कार्यों का शिलान्यास किया।

सलकनपुर धाम में किए जाने वाले विकास एवं निर्माण कार्य

सलकनपुर देवी मंदिर में जनसुविधा के लिए शिव मंदिर के समीप वृहद पार्किंग का निर्माण किया जाएगा। इसमें वाहन चालकों को रुकने के लिये लॉबी तथा टॉयलेट का निर्माण कार्य भी किया जाएगा। साथ ही जगह-जगह लगभग 04 अन्य स्थलों पर टॉयलेट ब्लॉक निर्मित किये जाएंगे। शुद्ध एवं स्वच्छ पानी के लिये लगभग 10 स्थानों पर पानी के बूथ बनाये जा रहे हैं जिससे लोगों को साफ एवं ठंडा पेयजल प्राप्त हो सकेगा। शिव मंदिर की सीढ़ियों को सही किया जाएगा तथा सुरक्षा के दृष्टिकोण से रिटेनिंग वॉल एवं रेलिंग लगाई जाएगी। पूरे परिसर में स्टोन की बेंचेस एवं डस्टबिन्स स्थापित की जाएगी। परिसर में स्ट्रीट लाइट एवं सीसीटीव्ही लगाये जायेंगे। दुर्घटनाओं से सुरक्षा के लिए फायर फाइटिंग सिस्टम भी स्थापित किया जाएगा। स्थलों को सूचित करने के लिये साइनेजेस तथा प्रसाद वितरण हेतु लगभग 06 प्रसाद काउंटर स्थापित किये जाएंगे। शिव मंदिर के सामने भव्य प्रवेश द्वार का निर्माण कार्य भी किया जाएगा। इन कार्यों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा 06 करोड़ 41 लाख स्वीकृत किये गये है।

मंदिर परिसर का विकास एवं सौन्दर्यीकरण तथा भोजशाला एवं सूर्य द्वार नवीनीकरण

योजना के तहत मंदिर परिसर के शिखर की ऊंचाई बढ़ाकर एक नया शिखर निर्मित किया जाएगा एवं मंदिर परिसर का विस्तार कर मंदिर को एक भव्य स्वरूप प्रदान किया जाएगा। मंदिर में मां दुर्गा की कथाओं का म्यूरल्स के माध्यम से चित्रण एवं देवियों के नौ स्वरूपों का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है ताकि मंदिर आगमन पर माता के भव्य स्वरूपों के दर्शन किये जा सकें। भीड़ के व्यवस्थित तरीके से आने-जाने के लिये मंदिर परिसर में रेलिंग एवं परिक्रमा पथ को व्यवस्थित किया जाएगा। मंदिर परिसर में शुद्ध साफ पानी पीने के लिये 05 स्थलों पर पानी के बूथ तथा लगभग 07 स्थलों पर प्रसाद काउंटर निर्मित किये जायेंगे। परिसर में सीसीटीव्ही कैमरे, वीडियो वॉल, दिशा सूचक साइनेजेस, डस्टबिन्स, बेंचेस,एक वृहद टॉयलेट, पीए सिस्टम, स्ट्रीट लाइट लगाई जाएगी। मंदिर परिसर के समीप स्थित भोजशाला को व्यवस्थित कर सुविधायुक्त बनाया जाएगा। दुर्घटनाओं से सुरक्षा के लिए फायर फाइटिंग सिस्टम भी स्थापित किया जाएगा तथा सूर्य द्वार की सीढ़ियों का नवीनीकरण कर व्यवस्थित स्वरूप प्रदान किया जाएगा। संपूर्ण मंदिर को लाल पत्थरों से क्लैडिंग कर भव्य स्वरूप प्रदान किया जाएगा। मंदिर के ऊपर फसाड लाइटिंग कर मंदिर को रात्रि में भी सुन्दर एवं आकर्षक स्वरूप प्रदान किया जाएगा। रात्रि में मंदिर दूर से दिखाई देगा। इन कार्यों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा 16 करोड़ 99 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की गई है।

मेला ग्राउण्ड का विकास, सिंह द्वार का विस्तार कार्य एवं सरोवर का सौन्दर्यीकरण कार्य

मेला ग्राउण्ड को जनसुविधा के दृष्टिकोण से व्यवस्थित किया जाएगा तथा मेला ग्राउण्ड के समीप एक वृहद टॉयलेट ब्लॉक का निर्माण कार्य भी किया जाएगा। यात्रियों को सुविधा के लिए बैठने की व्यवस्था तथा नाले को पक्का कर अण्डरग्राउण्ड किया जाएगा। मंदिर परिसर के आगम मार्ग पर स्थित सिंह द्वार को भव्य एवं वृहद स्वरूप प्रदान किया जाएगा। सीढ़ी मार्ग के समीप स्थित सरोवर की साफ-सफाई, पिचिंग एवं सौन्दर्यीकरण का कार्य भी किया जाएगा तथा समीप एक गार्डन भी विकसित किया जाएगा। संपूर्ण परिसर में सीसीटीव्ही, 15 स्थलों पर पेयजल व्यवस्था, 10 स्थलों पर प्रसाद काउंटर, स्ट्रीट लाइट, वीडियो वॉल, पीए सिस्टम तथा फायर फाइटिंग सिस्टम स्थापित किया जाएगा। दिशा सूचक एवं इन्फॉर्मेशन साइनेजेस तथा बेंचेस डस्टबिन्स भी स्थापित की जाएगी, जिससे परिसर को स्वच्छ रखा जा सके। इन कार्यों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा 11 करोड़ 55 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की गई है।

125 नवीन दुकानों का निर्माण एवं 06 भव्य प्रवेश द्वारों का निर्माण कार्य

मेला ग्राउण्ड के समीप पुरानी दुकानों को व्यवस्थित करने के लिये 125 नवीन पक्की दुकानें निर्मित की जाना हैं। इसके साथ-साथ सड़क मार्ग पर 01 भव्य प्रवेश द्वार तथा मेला ग्राउण्ड के समीप 02 प्रवेश द्वार, धर्मशाला मार्ग पर 1 प्रवेशद्वार, सीढ़ी मार्ग पर 1 प्रवेश द्वार तथा सिंह द्वार के बराबर 01 अन्य प्रवेश द्वार, इस प्रकार कुल 06 भव्य प्रवेश द्वारों का निर्माण किया जाएगा। इन कार्यों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा 08 करोड़ 74 लाख रूपए राशि स्वीकृत की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*